Ahmedabad News : केशुभाई पुन: बने सोमनाथ ट्रस्ट के अध्यक्ष

ट्रस्टी मंडल की ऑनलाइन बैठक में मोदी, आडवाणी, शाह रहे मौजूद

संपत्ति में हुई वृद्धि

By: Rajesh Bhatnagar

Published: 30 Sep 2020, 11:22 PM IST

प्रभास पाटण. देश के प्रथम ज्योतिर्लिंग सोमनाथ महादेव मंंदिर सहित गिर सोमनाथ जिले में प्रभास पाटण-सोमनाथ स्थित विविध मंदिरों का प्रबंधन करने वाले सोमनाथ ट्रस्ट के अध्यक्ष पद पर और एक वर्ष के लिए मौजूदा अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल को चुना गया है।
ट्रस्ट के अध्यक्ष केशुभाई पटेल की अध्यक्षता में बुधवार शाम को हुई ऑनलाइन बैठक में ट्रस्टियों व प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के अलावा जे.डी. परमार, हर्षवद्र्धन निवेटिया, ट्रस्टी सचिव प्रवीण के. लहेरी मौजूद थे।
वर्ष 2019-20 का अंकेक्षित हिसाब पेश किया गया और मंजूरी दी गई। इसके अनुसार गत वर्ष कुल 46.29 करोड़ रुपए की आवक के मुकाबले 35.80 करोड़ खर्च किए गए। ट्रस्ट की कुल संपत्ति गत वर्ष तक 249.37 करोड़ रुपए थी, वर्ष के दौरान बढ़कर 321.09 करोड़ रुपए हो गई।
ट्रस्ट की ओर से सोमनाथ में यात्री सुविधा केंद्र, पार्किंग, मुख्य मंदिर में रोशनी, कचरे की निकासी की व्यवस्था, बुद्धिस्ट केव को दर्शनीय बनाने सहित अनेक विकासलक्षी कार्य पूरे किए गए। कोरोना महामारी के दौरान ट्रस्ट की ओर से किए गए 2.62 करोड़ रुपए के खर्च को ट्रस्टी मंडल ने स्वीकृत कर दिया। ट्रस्ट की ओर से गुजरात के मुख्यमंत्री राहत कोष में एक करोड़ रुपए की सहायता दी गई।

मोदी ने दी विकासलक्षी प्रोजेक्ट तैयार करने की सलाह

ट्रस्ट के ट्रस्टी व प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गोलोक धाम के विकास के लिए द्वापर युग से कलियुग में परिवर्तन केे बारे में भगवान श्री कृष्ण के वैकुंठ व भारतीय कालगणना के बारे में वैज्ञानिक आधार के साथ विकासलक्षी प्रोजेक्ट तैयार करने की सलाह दी। महाप्रभुजी की स्थापित 84 वैष्णव बैठकों का संयोजन कर श्रीकृष्ण की अंतिम लीला के प्रभास क्षेत्र के स्थलों को विकसित करने की सलाह भी दी।

Rajesh Bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned