स्कूल में मध्याह्न भोजन संचालिका की हत्या

स्कूल में मध्याह्न भोजन संचालिका की हत्या

Rajesh Bhatnagar | Publish: Sep, 07 2018 11:09:13 PM (IST) Ahmedabad, Gujarat, India

अवैध संबंध के खुलासे के भय से फांसी लगाकर की थी, कुए से दो दिन पहले मिला था शव, दुबारा पोस्टमार्टम में हुआ खुलासा, स्कूल संचालक सहित दो ने पूछताछ में कबूली वारदात

राजकोट. शहर के कणकोट गांव में एक कुए से दो दिन पहले अज्ञात महिला का शव मिलने के मामले में दुबारा पोस्टमार्टम में फांसी लगाकर हत्या कर कुए में शव फेंकने का खुलासा हुआ है। आरोपी सहित दो जनों ने पूछताछ में अवैध संबंध के खुलासे के भय से महिला की हत्या की बात कबूल की है।
शहर पुलिस उपायुक्त (जोन 2) मनोहरसिंह जाडेजा, सहायक आयुक्त (क्राइम) जयदीपसिंह सरवैया, तहसील पुलिस थाने के निरीक्षक वी.एस. वणजारा ने संवाददाता सम्मेलन में शुक्रवार को यह जानकारी दी। इसके अनुसार कणकोट गांव में एक कुए से अज्ञात महिला का शव दो दिन पहले मिला था। तहसील पुलिस थानाकर्मियों ने शव को अस्पताल पहुंचाया। इस दौरान मृतका के पास से गुजरात इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड (जीइबी) का बिल मिलने पर मृतका की पहचान शहर में रेलनगर निवासी हीना राजेश मेहता (49 वर्ष) के तौर पर हुई।
वह शहर में मवड़ी प्लॉट के मायाणी नगर निवासी शांतिलाल हरदास वीरडिय़ा के कर्मयोगी स्कूल में मध्याह्न भोजन योजना की संचालिका थी। सूचना मिलने पर मृतका के पुत्र गौरव ने अस्पताल पहुंचकर उसकी शिनाख्त की। उसने माता की हत्या का आरोप लगाया। शव का दुबारा पोस्टमार्टम करने पर फांसी लगाकर हत्या करने का खुलासा हुआ।
जांच के दौरान पता लगा कि हीना को स्कूल के संचालक शांतिलाल ने फोन करके मिलने बुलाया था। शांतिलाल को हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर उसने पिछले लंबे समय से हीना के साथ अवैध संबंध के चलते कई बार जेवर व नकद राशि हीना को देने का खुलासा किया। हीना का लालच बढऩे पर अवैध संबंध का खुलासा होने के भय के चलते उसने हीना की हत्या का षडयंत्र रचा।
शांतिलाल ने रंग-रोगन का काम करने वाले विजय श्रीआद्या राय के साथ मिलकर अष्टमी के दिन यानी पिछली 3 सितंबर को स्कूल में मिलने के लिए बुलाया। वहां फांसी लगाकर हत्या करने के करीब पांच घंटे बाद दोनों ने हीना के शव को कणकोट गांव स्थित एक कुए में फेंक दिया। इस खुलासे के बाद दोनों को गिरफ्तार किया गया है।

शांतिलाल को डेढ़ वर्ष से गुप्त रोग
सूत्रों के अनुसार हीना के साथ अवैध संबंध रखने वाले रंगीन मिजाज वाले शांतिलाल को डेढ़ वर्ष से गुप्त रोग के कारण दवाई चल रही है।

crime

जन्माष्टमी के दिन शांतिलाल ने पकड़ा, विजय ने लगाई फांसी
वड वाजडी स्थित कर्मयोगी स्कूल में मध्याहन भोजन योजना की संचालिका के तौर पर नौकरी करने वाली हीना को स्कूल के संचालक शांतिलाल ने जन्माष्टमी के दिन मिलने बुलाया था। योजनानुसार शांतिलाल ने हीना को पकड़ा और विजय ने फांसी लगाकर हीना की हत्या कर दी।

 

Ad Block is Banned