पतंगों की सज गई दुकानें, कोरोना से मंदी का माहौल

कारोबार में बनी है नरमी, दादरा नगर हवेली

 

 

By: Gyan Prakash Sharma

Published: 11 Jan 2021, 12:07 AM IST

सिलवासा. वर्ष 2020 भले ही खट्टी-मीठी यादों के साथ विदा हो चुका है, लेकिन नए वर्ष 2021 की शुरुआत में भी कोरोना का असर पीछा छोड़ता नहीं दिख रहा है। नए वर्ष का पहला त्योहार मकर संक्रांति बिल्कुल नजदीक है और शहर के बाजारों में पंतगों की दुकानें भी सज गई है, लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते मकर संक्रांति का भी माहौल संघ प्रदेश दादरा नगर हवेली में नहीं जम पा रहा है।


कोरोना महामारी के चलते लोगों में अब त्योहार मनाने के प्रति पहले जैसी उत्सुकता देखने को नहीं मिल रही है और इसी का परिणाम है कि मकर संक्रांति पर्व पर दान-पुण्य के साथ पतंगबाजी का रंग भी फिलहाल शहर में नहीं चढ़ पाया है। शहरी व ग्रामीण बाजारों में पतंगों की दुकानें तो सज गई हैं परन्तु बिक्री ठप है।

व्यापारियों ने कारोबार बढ़ाने के लिए छोटा भीम, मिकी माउस, कार्टून, बुलेट ट्रेन, स्पाइडर मैन, बैटमैन, निंजा हथोड़ी, किसमें कितना है दम, डोरेमोन वाली आकर्षक पतंगें दुकानों पर सजा ली है।
इस बार कोरोना थीम पर भी पतंगें बाजार में आई हैं, जिस पर किसी राक्षस की आकृति बनी है तो कहीं वैक्सीन की। पंतगों के अलावा बाजारों में जगह-जगह टेंट और दुकानों में तिलकुट की बिक्री के लिए प्रयास चालू हो गए हैं। तिलकुट पारंपरिक रूप से तिल, गुड़ से बनाया जाता है। मगर इस बार फ्लेवर तिलकुट भी दुकानों पर मौजूद है। इसमें इलायची वाले तिलकुट की कीमत 360 से 400 रुपए तथा सौंफ वाले तिलकुट की कीमत 400 रुपए तक बोली जा रही है।

Corona virus
Gyan Prakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned