पुजारा बंधुओं ने ली थी ३ करोड़ की सुपारी, एक गिरफ्तार

वकील किरीट जोशी की हत्या का मामला, सुपारी जयेश ने ही दी थी, जांच में खुलासा

By: Gyan Prakash Sharma

Published: 07 Jun 2018, 10:55 PM IST

जामनगर. जामनगर के सनसनीखेज वकील किरीट जोशी की हत्या के मामले में नया खुलासा हुआ है। कुख्यात भू-माफिया जयेश पटेल ने जोशी की हत्या के लिए अहमदाबाद निवासी पुजारा बंधुओं सहित तीन जनों को ३ करोड़ रुपए की सुपारी दी थी, जिसमें एक राजस्थानी युवक की मदद ली थी। पुलिस ने राजस्थानी युवक को गिरफ्तार कर सुपारी के रुपयों से खरीदी कार व मोबाइल भी बरामद किया।
जिला पुलिस अधीक्षक (एसपी) पी. बी. सेजुळ ने गुरुवार को बताया कि गिरफ्तार आरोपी का नाम राजस्थान के पाली जिले की बाली तहसील के डेरी गांव निवासी अजयपालसिंह उमेदसिंह पवार उर्फ बोबी है, जिसे माउंट आबू से गिरफ्तार किया गया।
एसपी सेजुळ ने बताया कि जयेश पटेल अहमदाबाद की जेल में बंद था। उस समय उसके साथ अहमदाबाद निवासी दिलीप पुजारा व उसका छोटेभाई हार्दिक पुजारा एवं जयंत अमृतलाल चारण भी हत्या के मामले में जेल में थे। फिलहाल पेरोल पर छूटने के बाद फरार हो गए, जिससे पुलिस ने पुजारा बंधु व जयंत को निशाना बनाकर जांच शुरू की, जिसमें अजयपालसिंह की भी संलिप्तता उजागर हुई थी।
एसपी ने बताया कि वकील जोशी की हत्या के लिए पुजारा बंधुओं ने ३ करोड़ रुपए में जयेश से सुपारी ली थी, जिसमें २० लाख रुपए एडवांस में दिए गए थे। सुपारी के रुपयों से एक कार खरीदी और माउंट आबू में चले गए, जहां अजयपालसिंह को रुपए के लालच में फंसाया और सिरोही से एक चाकू खरीदा था।


महेसाणा में रचा षड्यंत्र
बाद में महेसाणा स्थित वाटर पार्क के निकट पहुंचे और वकील की हत्या का षड्यंत्र रचा। दिलीप एवं हार्दिक ने राजकोट निवासी संबंधी के मार्फत पुरानी दो बाइक खरीदी और रेकी करते थे। दोनों जने किरीट को नहीं जानते थे, जिससे कारण जयेश से कुछ फोटो व वीडियो मांगे थे। आरोपियों ने इंटरनेट यूज करने के लिए डोन्गल का उपयोग किया और वाट्सअप कोलिंग से सम्पर्क करते थे। इसके बावजूद किरीट को नजदीक से पहचानने के लिए स्थानीय लोगों की मदद की आशंका है।


दो गिरोहों को दी सुपारी
एसपी ने बताया कि जयेश के विरुद्ध जमीन के अधिकतर मामलों में फरियादी के वकील के रूप में किरीट जोशी थे, जिसके कारण जयेश को लम्बे समय तक जेल में रहना पड़ा था। जयेश ने किरीट की हत्या करने के लिए मुम्बई एवं अहमदाबाद के गिरोह को सुपारी देने की जानकारी भी मिली है। मुम्बई की गिरोह को ५० लाख में एवं अहमदाबाद की गिरोह को ३ करोड़ में सुपारी दी थी।

Gyan Prakash Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned