कच्छ एवं बनासकांठा जिले में फिर हो सकता है टिड्डियों का हमला

Locust Attack, Kutch and Banaskantha district, Agriculture officer, farmer

By: Gyan Prakash Sharma

Published: 06 May 2020, 11:07 PM IST

पालनपुर/भुज. बनासकांठा जिले के कुछ क्षेत्रों में वर्ष 2020 -21 में एक बार फिर खेतों में टिड्डियों का हमला हो सकता है। इस आशंका को देखते हुए जिले के खेती-बाड़ी (कृषि) अधिकारी ने किसानों से पहले ही सतर्क रहने की अपील की है। इसके अलावा कच्छ जिले के पाकिस्तानी सीमा से लगे क्षेत्रों में भी टिड्डियों का हमला हो सकता है, इसे देखते हुए किसानों के साथ ही प्रशासन ने भी पूरी तरह से तैयारी कर ली है।


बनासकांठा जिले के खेतीबाड़ी अधिकारी के अनुसार गुजरात के सीमा वर्ती क्षेत्रों के अलावा बनासकांठा जिले के वाव, थराद और सुई गाम तहसील के सीमावर्ती गांव में टिड्डियों के हमले की संभावना है। टिड्डियां एक अंतरराष्ट्रीय समस्या है और यह कहीं भी पहुंचकर फ सलों को नुकसान पहुंचा सकती है। किसानों को यदि इस संबंध में कोई जानकारी मिलती है तो वे तुरंत जिला खेती-बाड़ी अधिकारी कार्यालय तथा टिड्डी नियंत्रण कक्ष पालनपुर कार्यालय में इसकी जानकारी दे सकते हैं। इसके अलावा तहसील विकास अधिकारी और तहसीलदार को भी इसकी जानकारी दी जा सकती है।


भुज संवाददाता के अनुसार जिले में आगामी खरीफ मौसम 2020 के दौरान जिले के लखपत, भचाऊ, अबदासा में टिड्डियों के आने की संभावना बढ़ गई है। कच्छ जिले के खेतीबाड़ी अधिकारी संबंधित क्षेत्रों में कीटनाशक दवाओं का छिड़काव करने में लगे हुए हैं। इस मामले पर कच्छ के जिला कलेक्टर खुद ध्यान रखे हुए हैं।

Gyan Prakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned