ससुरालवालों की प्रताडऩा से परेशान युवक ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट मिला

संतान न होने से युवक की पत्नी ने कर ली थी आत्महत्या,
समाधान के लिए प्रताडि़त करने ५० लाख मांगने का आरोप,

By: nagendra singh rathore

Published: 04 Apr 2019, 10:34 PM IST

अहमदाबाद. वैवाहिक जीवन के आठ साल के बाद भी संतान नहीं होने से क्षुब्ध होकर एक विवाहिता के आत्महत्या कर लेने की घटना के बाद उसके पति ने भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक युवक के भाई ने मृतक के ससुरालवालों पर उसे समाधान के लिए ५० लाख रुपए मांगने और शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताडि़त करने का आरोप लगाया है। इस संबंध में युवक की ओर से लिखी गई सुसाइड नोट भी मिली है, जिसके आधार पर वाडज पुलिस ने मृतक युवक के ससुरालवालों के विरुद्ध वाडज थाने में प्राथमिकी दर्ज की है।
बापूनगर निवासी हितेश पटेल ने महेसाणा के विरमपुरा गांव निवासी कनूभाई पटेल, भाईलालभाई पटेल, समीर पटेल, राहुल पटेल, अमरत पटेल, कीर्तिभाई पटेल पर आत्महत्या के लिए प्रेरित करने, शारीरिक एवं मानसिक रूप से प्रताडि़त करने का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई है।
इसमें आरोप लगाया है कि इन सभी छह लोगों की प्रताडऩा के चलते ही हितेश के भाई संजय उर्फ पूनम (३४) ने 10 मार्च २०१९ को उस्मानपुरा चांपानेर सोसायटी दामोदर बिल्डिंग में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। 11 मार्च को पता चला। घर से संजय की ओर से लिखा सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें उसने इन सभी लोगों के नाम और प्रताडऩा के बारे में भी लिखा है।
हितेश ने बताया कि संजय और कनुभाई पटेल की पुत्री चेतना का विवाह करीब आठ साल पहले वर्ष २०११ में हुआ था। वैवाहिक जीवन के दौरान संतान नहीं होने के चलते चेतना ने बीते साल २०१८ में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी।
इस मामले में बापूनगर थाने में कनूभाई ने दहेज प्रताडऩा का मामला दर्ज कराया था। जिसमें हितेश, उनकी पत्नी और उनकी मां को शहर सत्र अदालत और गुजरात हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत मिल गई। लेकिन संजय उर्फ पूनम को अग्रिम जमानत नहीं मिलने से वह परेशान था। इस बीच उसे नौ मार्च को पता चला कि उसके भाई संजय उर्फ पूनम को उससे ससुर व पत्नी के भाईयोंकी ओर से परेशान किया जा रहा है। समाधान के लिए ५० लाख रुपए की मांग की जा रही है। जिससे वह काफी परेशान था। हितेश ने उसे समझाया भी था कि वह ऐसा कदम नहीं उठाए। लेकिन इन लोगों की प्रताडऩा और धमकाने के चलते उसने यह कदम उठा लिया।

nagendra singh rathore
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned