जनवरी में सर्वाधिक 4,38,740 यात्रियों ने किए सोमनाथ महादेव मंदिर में दर्शन

आस्था : कोरोनाकाल में संक्रमण कम होने के साथ दर्शनार्थियों की संख्या बढ़ी

गणतंत्र दिवस अवकाश के दौरान 23 से 26 तक 4 दिन में 88,000

लॉकडाउन के बाद जून में 57,488

श्रावण मास सहित अगस्त में 1,60,000

By: Rajesh Bhatnagar

Published: 05 Feb 2021, 11:49 PM IST

भास्कर वैद्य

प्रभास पाटण. कोरोनाकाल में संक्रमण कम होने के साथ आस्था बढऩे के साथ-साथ दर्शनार्थियों की संख्या भी बढ़ी है। कोरोनाकाल में जनवरी महीने में सर्वाधिक 4,38,740 यात्रियों ने सोमनाथ महादेव मंदिर में दर्शन किए हैं। इनमें गणतंत्र दिवस अवकाश के दौरान 23 से 26 तक 4 दिन में 88,000 यात्री शामिल हैं।
कोरोना महामारी की शुरुआत के साथ ही केन्द्र सरकार की ओर से देश में लागू किए गए लॉकडाउन, उसके बाद अनलॉक के दौरान जून महीने में गाइडलाइन की पालना की शर्त के साथ मंदिर खोलने की छूट दी गई थी। इस कारण मार्च महीने से प्रत्यक्ष दर्शन के लिए यात्रियों के लिए बंद रहे सोमनाथ महादेव मंदिर को पिछली 8 जून से खोला गया।
सोमनाथ ट्रस्ट के महा प्रबंधक विजयसिंह चावड़ा के अनुसार ट्रस्ट की ओर से सरकार की गाइडलाइन की पालना करने के साथ ऑनलाइन और ऑफलाइन पास जारी करने की व्यवस्था के जरिए मंदिर में प्रत्यक्ष दर्शन की व्यवस्था की गई। उस महीने में 57,488 यात्रियों ने प्रत्यक्ष दर्शन किए थे।

दिवाली अवकाश के कारण नवंबर में 3,50640 यात्री पहुंचे

चावड़ा के अनुसार हालांकि अन्य वर्षों के मुकाबले कम लेकिन अगस्त महीने में श्रावण मास के चलते 1,60,000 यात्रियों ने मंदिर में प्रत्यक्ष दर्शन का लाभ लिया। जबकि दिवाली अवकाश के कारण नवंबर में मंदिर में दर्शन करने के लिए पहुंचने वाले यात्रियों की यह संख्या दुगुनी से अधिक यानी 3,50,640 थी।

ट्रस्टी सचिव लहेरी ने किया मार्गदर्शन

सोमनाथ ट्रस्ट के ट्रस्टी सचिव पी.के. लहेरी ने जनवरी महीने में तीन दिन तक यहां रहकर मागदर्शन किया। फिलहाल ट्रस्ट के अतिथि गृह और धर्मशालाओं में क्षमता के मुकाबले 60-65 प्रतिशत यात्री ठहर रहे हैं। यात्रियों की गिनती सीसीटीवी कैमरों और कंप्यूटर की मदद से की जा रही है।

कोरोनाकाल में महीनेवार प्रत्यक्ष दर्शनार्थियों की संख्या

महीना दर्शनार्थियों की संख्या
जून 57,488
जुलाई 1,03,093
अगस्त 1,60,000
सितंबर 1,01,312
अक्टूबर 1,43,235
नवंबर 3,50640
दिसंबर 2,81,696
जनवरी 4,38,000

Rajesh Bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned