वी.एस. अस्पताल को लेकर मेयर व विधायक में तूतू-मैंमैं

वी.एस. अस्पताल को लेकर मेयर व विधायक में तूतू-मैंमैं

Pushpendra R.Singh Rajput | Publish: May, 17 2019 08:39:05 PM (IST) | Updated: May, 17 2019 08:39:06 PM (IST) Ahmedabad, Ahmedabad, Gujarat, India

अहमदाबाद महानगरपालिका

अहमदाबाद. अहमदाबाद महानगरपालिका के भाजपा पदाधिकारियों ने ऐसा लगता है गरीबों की जीवनडोर मानी जाने वाली वी.एस. अस्पताल को बंद करने का मूड़ बना लिया है। दरियापुर से विधायक ग्यासुद्दीन शेख ने भाजपा सरकार पर यह आरोप लगाया है। उन्होंने इस मुद्दे को लेकर मुख्यमंत्री को पत्र भी भेजा है। शुक्रवार को इस मुद्दे को उन्होंने अहमदाबाद की महापौर के समक्ष भी उठाया, जहां कांग्रेसी नेताओं की कहासुनी भी हो गई, लेकिन बीचबचाव के बाद मामला शांत हुआ।
उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ दिन पूर्व ही मा अमृतम कार्ड सेवा बंद कर दी। इससे पहले सभी सुपर स्पेश्यालिस्ट डॉक्टरों को नई एसवीपी हॉस्पिटल में स्थानांतरित कर दिया। पिछले बुधवार ही सर्जरी और मेडिसिन विभाग के सभी आईसीयू बेड भी बंद कर दिया। वी.एस. अस्पताल के बेड घटाने के बजाय ऐसा लगता है पूरी हॉस्पिटल को ताला लगाने की कोशिश की जा रही है।
उन्होंने कहा कि वी.एस. अस्पताल के मुद्दे पर भाजपा शासकों की नीयत पर पहले ही शक हो रहा था। कांग्रेस पार्टी ने नई एसवीपी हॉस्पिटल प्रारंभ करने से पहले आंदोलन भी किया था। वी.एस. अस्पताल के चलते ही मेडिकल कॉलेज मिली। उन्होंने कहा कि पुरानी वी.एस. अस्तपताल में हर रोज 1500 से ज्यादा मरीजों की ओपीडी होती है। जबकि नए एसवीपी हॉस्पिटल में दो सौ ओपीडी हो पाती है। इससे साफ है कि गरीब मरीज महंगा उपचार वहन नहीं कर सकते।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned