छह स्टेशनों पर दौड़ती मेट्रो, अभी बन ही रहे हैं दो स्टेशन

अहमदाबाद स्टेशन तक दौड़े मेट्रो तो सफर हो आसान, सुबह-शाम ज्यादा, दोपहर में नहीं नजर आते लोग

 

अहमदाबाद. शहर में पहली बार गुजरात में दौड़ी मेट्रो ट्रेन को तीन माह वक्त हो गया है, लेकिन सफर के तौर पर जितना लोगों को उपयोग करना चाहिए उतना नजर नहीं आ रहा है। हालांकि सुबह -शाम के दौरान मेट्रो ट्रेन यात्री जरूर नजर आते हैं, लेकिन दोपहर के वक्त यात्री कम सफर करते दिखते हैं। कई लोग तो इस ट्रेन में 'पिकनिकÓ का लुत्फ उठाते नजर आए। फिलहाल यह ट्रेन वस्त्राल गाम से लेकर एपरेल पार्क तक के छह स्टेशनों पर दौड़़ रही है। इनके बीच चार स्टेशन-निरांत चौकड़ी, वस्त्राल, रबारी कॉलोनी, और अमराईवाडी स्टेशन हैं। फिलहाल ज्यादातर लोग वस्त्राल गाम, निरांत चौकड़ी, अमराईवाडी और एपरेल पार्क से ही सफर करते हैं,लेकिन अभी भी वस्त्राल और रबारी कॉलोनी स्टेशन को पूरी तरह विकसित करना बाकी है।
इन दोनों स्टेशनों को विकसित किया जा रहा है। यह कार्य गत 31 मई तक पूरा होना था, लेकिन अभी भी इन स्टेशनों का काफी काम बचा है।
लोग बताते हैं कि जब यह ट्रेन अहमदाबाद रेलवे स्टेशन तक दौडऩे लगेगी तो यात्रियों की संख्या में इजाफा हो सकता है।
वस्त्राल गाम से एपरेल पार्क तक मंगलवार को मेट्रो ट्रेन में सफर कर लोगों से रायशुमारी की। सफर में कई लोग तो इस ट्रेन का पिकनिक के तौर पर उपयोग करते नजर आए। ज्यादातर लोगों की राय थी जब ट्रेन अहमदाबाद स्टेशन तक प्रारंभ होगी तो इसका ज्यादा उपयोग होगा। वस्त्राल, रबारी कॉलोनी और अमराईवाडी के लोग ऑटोरिक्शा या बस का सहारा लिए बगैर ही मेट्रो ट्रेन से सीधे ही अहमदाबाद रेलवे स्टेशन तक पहुंच जाएंगे। वस्त्राल और इसके आसपास के लोग एपरेल पार्क उतरकर बस में मणिनगर या अहमदाबाद स्टेशन आसानी से पहुंच रहे हैं। फिलहाल अहमदाबाद रेलवे स्टेशन तक टनल पहुंच गई है। यहां पर मेट्रो ट्रेन स्टेशन विकसित किया जा रहा है।

घूमने के लिए करते हैं मेट्रो में सफर
वस्त्राल गाम निवासी विक्रमसिंह का कहना है कि वह अपने साथी के साथ मेट्रो ट्रेन में सफर करते हैं। कॉलेज में पढ़ रहे इस युवक का कहना था कि मेट्रो ट्रेन की सुविधा बहुत अच्छी है। उन्हें कहीं जाना नहीं था, सिर्फ घूमने के लिए ही मेट्रो में सफर किया। मेट्रो स्टेशन और ट्रेन में अच्छी सुविधाएं हैं।
हर्ष वैष्णव का कहना है कि मेट्रो ट्रेन की सुविधा बहुत अच्छी है। वे पढ़ाई करते हैं फिलहाल तो अपने दोस्त के साथ इस ट्रेन में घूमने के लिए सफर किया। जब भी मन होता है तो हम ट्रेन में सफर करते हैं। अभी तक एपरेल पार्क तक ही यह ट्रेन चलती है, लेकिन जब अहमदाबाद स्टेशन तक प्रारंभ होगी तो रेलवे ट्रेन जाने वालों के लिए बेहतर सुविधा हो जाएगी।

ढाई लाख से ज्यादा लोगों ने अब तक किया सफर

अब तक ढाई लाख से ज्यादा यात्रियों ने मेट्रो ट्रेन में सफर किया है। सुबह-शाम मेट्रो में ज्यादा भीड़ रहती है। विशेष तौर पर नौकरीपेशा वाले होते हैं। हररोज सफर करनेवाले यात्रियों के लिए अब मेट्रो सुबह नौ बजे से शाम साढे छह बजे तक दौड़ाई जा रही है। हर चालीस से पचास मिनट में यात्रियों को मेट्रो उपलब्ध हो रही है।
अंकुर पाठक, जनसंपर्क अधिकारी, गुजरात मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड

Pushpendra Rajput
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned