गिरनार में शिवरात्रि पर मिनी कुंभ मेला-2019

मुख्यमंत्री ने बीते साल की थी घोषणा, अभी आवंटित किए 15 करोड़,
सामाजिक समरसता की थीम पर आयोजित होगा मेला: मुख्यमंत्री

By: nagendra singh rathore

Published: 10 Jan 2019, 11:35 PM IST

अहमदाबाद. आगामी शिवरात्रि पर 27 फरवरी से 4 मार्च के दौरान गिरनार में शिवरात्रि मिनी कुंभ मेले का आयोजन किया जाएगा। राज्य सरकार ने मिनी कुंभ के आयोजन के लिए 15 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं।
मुख्यमंत्री विजय रूपाणी की अध्यक्षता में गुरुवार को गांधीनगर में मिनी कुंभ मेले को लेकर हुई बैठक में रूपाणी ने कहा कि इस वर्ष यह मेला सामाजिक समरसता की थीम पर होगा।
इतना ही नहीं, स्वैच्छिक संस्थाओं के सहयोग से स्वच्छता अभियान, कुंड और नदी-नालों की सफाई, मैराथन दौड़, पर्वतारोहण स्पर्धा और स्पिरिचुअल वॉक जैसे नए आकर्षण भी मेले में शामिल किए जाएंगे।
रूपाणी ने जूनागढ़ के इस मेले को प्रयागराज में आयोजित होने वाले कुंभ मेले की तर्ज पर मिनी कुंभ मेले के रूप में आयोजित करने की मंशा के साथ गुजरात के अधिकारियों की एक टीम व्यक्तिगत अनुभव के लिए वहां भेजी थी। इस टीम के सुझावों को ध्यान में लेते हुए गिरनार कुंभ मेले को भव्य बनाने के लिए रूपाणी ने बैठक में मार्गदर्शन दिया।
उन्होंने सुझाव दिया कि मेले में पूरी तरह से स्वच्छता बनी रहे तथा सरकारी भवनों पर कुंभ मेले के अनुरूप चित्र, सुशोभन और एलईडी लाइट्स हाई मास्ट लगाए जाएं। मेले के दौरान गिरनार पर्वत की दीवार पर लेसर शो, फूलों और रंगों की रंगोली भी बनाई जाएगी।
कुंभ मेले में बड़ी संख्या में आने वाले संतों के लिए विश्वंभर भारती बापू और शेरनाथ बापू के साथ परामर्श कर संत संकलन समिति गठित करने का निर्णय किया गया।
मेले में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए अधिक संख्या में बस आवंटित करने के साथ ही मेले को भव्य, स्वच्छ और आध्यात्मिक भावना का अनूठा प्रतीक बनाने के आयोजन बनाने का सीएम ने निर्देश दिया।
मुख्यमंत्री ने प्रतिवर्ष मेले में आयोजित होने वाली रवेड़ी को बैंड, रास मंडलियों और हाथी-घोड़ों के साथ धूमधाम से आयोजित करने संबंधी सुझाव भी दिए।
बैठक में यात्राधाम विकास राज्य मंत्री विभावरीबेन दवे, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव के. कैलाशनाथन, प्रधान सचिव एमके दास, वन, पर्यटन एवं शहरी विकास विभाग के प्रधान सचिव और वरिष्ठ अधिकारियों समेत जूनागढ़ मनपा के महापौर, आयुक्त, जिला कलक्टर और पूज्य विश्वंभर भारती बापू, शेरनाथ बापू तथा अन्य अग्रणी उपस्थित थे।

nagendra singh rathore
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned