परिवार के पांच सदस्यों की रहस्यमय मौत

दिवाली अवकाश के बाद छोटा उदेपुर से खेत में मजदूरी करने के लिए बोटाद जिले के लाठीदड गांव पहुंचने पर हुए उल्टी-दस्त से पीडि़त

By: Rajesh Bhatnagar

Published: 26 Nov 2020, 11:34 PM IST

राजकोट. बोटाद जिले के लाठीदड गांव में खेत मजदूरी करने वाले एक परिवार के पांच सदस्यों की रहस्यमय मौत हो गई। मूल छोटा उदेपुर जिले के निवासी परिवार के सदस्य दिवाली अवकाश के बाद लाठीदड गांव पहुंचे थे। कथित तौर पर विषाक्त भोजन (फूड पॉइजनिंग) के कारण उल्टी-दस्त से पीडि़त होने के बाद उन्हें अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती करवाया गया था।
सूत्रों के अनुसार छोटा उदेपुर जिले की बोडेली तहसील के कथमुंढवा गांव निवासी त्रिकम कुंदन नायक (58 वर्ष), रतन कुंदन नायक (52 वर्ष), कांता त्रिकम नायक (55 वर्ष), फतेसिंह भावसिंह (40 वर्ष), प्रवीण मोहन नायक (30 वर्ष) दिवाली अवकाश के बाद खेत मजदूरी करने के लिए कथमुंढवा गांव से पिछली 22 नवंबर को सवेरे रवाना होकर रात को लाठीदड गांव पहुंचे।
इस दौरान वडोदरा के समीप एक धर्मशाला में उन्होंने कथित तौर पर भोजन किया। लाठीदड गांव पहुंचने के बाद सभी को 24 नवंबर को उल्टी-दस्त से पीडि़त होने पर बोटाद के निजी अस्पताल में भर्ती किया गया। वहां से प्रवीण मोहन नायक को भावनगर ले जाकर वहां के अस्पताल में भर्ती किया। त्रिकम की मौत बुधवार रात को होने के बाद अन्य चारों सदस्यों की भी रहस्यमय मौत हो गई।
सूचना मिलने पर बोटाद थाने के निरीक्षक व टीम अस्पताल पहुंची और जांच शुरू की। भावनगर में प्रवीण की मौत की सूचना मिलने पर पुलिस टीम ने कार्रवाई शुरू की। खेत पर दवा का छिडक़ाव करने के दौरान असर होने से मौत की आशंका के चलते नमूने लेकर जांच के लिए विधि विज्ञान प्रयोगशाला (एफएसएल) में भिजवाए गए हैं।

Rajesh Bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned