केन्या में नडियाद के युवक की हत्या

खेडा जिले में नडियाद के मूल निवासी व लंबे समय से केन्या में स्थायी तौर पर रहने वाले एक युवक की अल्टोरेट शहर में गोली मारकर हत्या कर दी गई। मृतक की मात

By: मुकेश शर्मा

Published: 10 Nov 2017, 05:57 AM IST

आणंद।खेडा जिले में नडियाद के मूल निवासी व लंबे समय से केन्या में स्थायी तौर पर रहने वाले एक युवक की अल्टोरेट शहर में गोली मारकर हत्या कर दी गई। मृतक की माता व भाभी केन्या पहुंच गए हैं।सूत्रों के अनुसार नडियाद में समता पार्टी प्लॉट के समीप रहने वाले व प्राचार्य पद से सेवानिवृत्त हुए जशा पटेल के पुत्र व केन्या के काकामेघा टाऊन में किराणे की दुकान चला रहे राकेश ने अपने छोटे भाई अल्पेश को भी बुला लिया। पांच वर्ष पहले अल्पेश का विवाह अल्पिता के साथ हुआ, संतान में दो पुत्र हैं।

बड़े भाई की भी पांच वर्ष पहले हुई थी हत्या :

करीब पांच वर्ष पहले दुकान बंद कर दोनों भाई घर लौट रहे थे, तब लुटेरों ने राकेश को गोली मार दी थी। इसके बाद अल्पेश नडियाद लौट आया। नडियाद में स्थायी तौर पर रहने का निर्णय किया और दो वर्ष तक कारोबार करने के बाद मन नहीं लगा तो वह तीन वर्ष पूर्व फिर केन्या चला गया। वहां काकामेघा टाऊन के बजाय अल्टोरेट टाऊन में उसने स्टोर शुरू किया और पत्नी के साथ रह रहा था।

पिछले बुधवार की शाम को अल्पेश अपना स्टोर बंद करघर लौट रहा था, उस समय अश्वेत लुटेरों ने उसकी कार का पीछा किया और घर के समीप कार के टायरों पर फायरिंग कर कार रोक दी। उन्होंने अल्पेश से पैसे की मांग की तो उसने बैग लुटेरों को दे दिया, लेकिन फिर बैग छीनने का प्रयास किया। तब एक लुटेरे ने फायरिंग की और गोली अल्पेश के पेट में लगी। एक एककर तीन गोली लगने से लहू-लुहान अल्पेश गिर पड़ा और लुटेरे पैसे लेकर फरार हो गए। अल्पेश को अस्पताल पहुंचाया, जहां उसकी मौत हो गई। नडियाद में माता व सूरत में ससुरालवालों को सूचना मिलने पर शोक व्याप्त हो गया।

सूरत मे अध्ययन कर रहे हैं दोनों पुत्र :

मृतक अल्पेश की सास व ससुर सूरत में व्यापार करते हैं। मृतक के दोनों पुत्र भी ननिहाल में रहकर कक्षा 8वीं व 10वीं में अध्ययन कर रहे हैं।

सुपारी तस्करी का मुख्य सूत्रधार गिरफ्तार

राजस्व आसूचना निदेशालय ने इनलैण्ड कन्टेनर डिपो (आईसीडी), खोडियार और मुन्दरा से सुपारी तस्करी के मुख्य सूत्रधार संजय कुमार शाह को गिरफ्तार कर लिया। डीआरआई टीम ने एक अगस्त को यह मामला दर्ज किया था तब से आरोपी की तलाश की जा रही थी।

डीआरआई टीम को संजय कुमार शाह के मुन्द्रा पोर्ट जाने की जानकारी मिली थी। बाद में डीआरआई-अहमदाबाद की टीम ने डीआरआई - गांधीधाम को सतर्क किया था। डीआरआई-गांधीधाम की टीम तुरंत मुन्द्रा पहुंची और कस्टम-मुन्द्रा कार्यालय से संजय शाह को हिरासत में ले लिया।

बाद में डीआरआई-अहमदाबाद की टीम ने वहां से आरोपी संजय कुमार को हिरासत में लेकर पूछताछ की।

आरोपी ने कबूल किया कि उसने तुषार ठाकोर के साथ राधिका इम्पैक्स के नाम से फर्जी कम्पनी बनाई थी और इसके जरिए मेटल स्क्रैप बताकर सुपारी की तस्करी करता था। डीआरआई-अहमदाबाद की टीम ने खोडियार आईसीडी से छह कन्टेनर बरामद किए थे, जिसमें 67.472 मीट्रिक टन स्क्रैप में से 35.867 मीट्रिक टन सुपारी बरामद की गई, जो करीब दो करोड़ रुपए की थी।

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned