कोटडिया ने सूरत में रची थी ठगी की साजिश

कोटडिया ने सूरत  में रची थी ठगी की साजिश

nagendra singh rathore | Publish: Sep, 10 2018 11:33:43 PM (IST) Ahmedabad, Gujarat, India

बिटकॉइन जबरन ट्रांसफर कराने का मामला

 

अहमदाबाद. सूरत के बिल्डर शैलेष भट्ट और उसके साथी किरीट पालडिया का अपहरण करने के बाद मारपीट कर 12 करोड़ के २०० बिटकॉइन ट्रांसफर कराने के मामले में गिरफ्तार पूर्व विधायक नलिन कोटडिया पर मुख्य साजिश रचने का आरोप है।
सीआईडी क्राइम की ओर से अब तक की गई जांच और आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद हुई पूछताछ में सामने आया कि इसका षडयंत्र सूरत के सर्किट हाउस में नलिन कोटडिया, किरीट पालडिया व केतन पटेल के बीच हुई बैठक में रचा गया था।
इसी के तहत किरीट पालडिया और नलिन कोटडिया ने अमरेली पुलिस अधीक्षक जगदीश पटेल, एलसीबी पीआई अनंत पटेल व अन्य कर्मचारियों के साथ मिलकर शैलेष भट्ट व किरीट पालडिया का गांधीनगर के निधि पेट्रोल पंप से फरवरी महीने में अपहरण कराया। दहेगाम रोड पर केशव फार्म हाऊस में ले जाकर पांच सेछह घंटे बंधक बनाए रखकर और मारपीट करके जबरन २०० बिटकॉइन ट्रांसफर करवा लिए। इसके अलावा मामले में केस दर्ज नहीं करने के एवज में ३२ करोड़ रुपए की अलग से मांग की।
इस मामले में गत आठ अप्रेल को सीआईडी क्राइम ने शैलेष भट्ट की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज की थी। इस प्रकरण में अब तक अमरेली के तत्कालीन एसपी जगदीश पटेल, एलसीबी के तत्कालीन पीआई अनंत पटेल, किरीट पालडिया, केतन पटेल, नानकूभाई आहिर सहित अन्य आरोपी पकड़े जा चुके हैं। नलिन कोटडिया को इस मामले में ६६ लाख रुपए मिलने वाले थे। इसमें से ३५ लाख रुपए उसे किरीट पालडिया की ओर से चुका भी दिए गए। इनमें से २५ लाख रुपए सीआईडी क्राइम ने बरामद भी किए हैं। गत १७ मई को लिप्तता सामने आने पर कोटडिया को वारंट जारी किए गए। हाजिर न रहकर पांच महीने से वह फरार चल रहे थे। रविवार को अहमदाबाद क्राइम ब्रांच ने कोटडिया को महाराष्ट्र के धुलिया जिले के अमलनेर कस्बे से गिरफ्तार कर लिया। देर रात सीआईडी क्राइम को सौंप दिया। इस मामले की जांच उपाधीक्षक ए.ए.सैयद कर रहे हैं।

Ad Block is Banned