नर्मदा बांध का जलस्तर १२२ मीटर के पार

नर्मदा बांध का जलस्तर १२२ मीटर के पार

Omprakash Sharma | Publish: Sep, 02 2018 09:46:12 PM (IST) Ahmedabad, Gujarat, India

राज्य के बांधों में क्षमता का ५३ फीसदी से अधिक संग्रह



अहमदाबाद. राज्य के सबसे बड़े और महत्वपूर्ण सरदार सरोवर (नर्मदा) बांध में तेजी से हुई पानी की आवक के चलते रविवार तक जलस्तर १२२ मीटर के पार पहुंच गया। इसके साथ ही बांध में कुल क्षमता का ५६ फीसदी संग्रह हो गया। राज्य के अन्य बांधों की स्थिति में आंशिक सुधार हुआ है। फिलहाल राज्य के सभी बांधों में क्षमता का औसतन ५३ फीसदी से अधिक संग्रह हो गया।
नर्मदा बांध की पानी संग्रह की क्षमता ९४६० मिलियन क्यूबिक मीटर (एमसीएम) है जिसके मुकाबले रविवार तक बांध में ५२९७ एमसीएम पानी संग्रह हो गया। यह कुल संग्रह क्षमता का ५५.९९ फीसदी है। दूसरी ओर राज्य के प्रमुख २०३ बांधों में कुल संग्रह क्षमता १२९३२ एमसीएम की तुलना में ६७९३ एमसीएम संग्रह हो गया। यह संग्रह ५२.५३ फीसदी है। राज्य के सभी छोटे बड़े बांधों में अब तक १३४६० एमसीएम पानी का संग्रह हो गया है। जबकि कुल क्षमता २५२२० एमसीएम है। रविवारतक ५३.३७ फीसदी संग्रह हुआ है।
हाल में राज्य के प्रमुख २०३ बंधों में से ३२ में ९० फीसदी से अधिक संग्रह होने पर उन्हें हाईअलर्ट पर रखा है। जबकि १३ बांधों में ८० से ९० फीसदी संग्रह होने पर अलर्ट और नौ बांधों में ७० से ८० फीसदी जलसंग्रह होने पर चेतावनी दी गई है। हाल में १४९ बांधों में ७० फीसदी से कम संग्रह है।
अब अंकुर चार रास्ता के निकट बड़ा गड्ढा
बारिश के दौरान शहर के विविध इलाकों में पचास से अधिक गड्ढे
अहमदाबाद. शहर में मिट्टी धंसने के कारण पडऩे वाले गड्ढों का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। रविवार को शहर के नारणपुरा क्षेत्र स्थित अंकुर चार रास्ता के निकट भी एक बड़ा गड्ढा पड़ गया।
इससे पूर्व इस बारिश के मौसम के दौरान शहर के पूर्व विस्तार, नया पश्चिम जोन जिवराज पार्क समेत विविध भागों में पचास से अधिक गड्ढे पड़ गए। रविवार को अंकुर चार रास्ता के निकट एकाएक बड़ा गड्ढा हो गया। शहर में गड्ढों के सिलसिले के संबंध में महानगरपालिका के अधिकारियों का मानना है कि जिस क्षेत्र में पुरानी गटर और पानी की लाइन हो जाती हैं उन इलाकों में इस तरह की मिट्टी धंस जाती है। दूसरा कारण गटर-पानी के अवैध कनेक्शन करना भी माना जाता है। अवैध कनेक्शन के दौरान कहीं न कहीं पानी का रिसाव होता रहता है जिससे मिट्टी धंसती रहती है।

Ad Block is Banned