नवरात्र पर्व : शुभ मुहूर्त में आज होगी घट स्थापना

कोरोना संक्रमण के बीच नवरात्र पर्व

By: Gyan Prakash Sharma

Updated: 17 Oct 2020, 12:12 AM IST

सिलवासा. कोरोना संक्रमण के बीच शनिवार को नवरात्र महोत्सव की शुरुआत कलश स्थापना से होगी। 9 दिन तक मां दुर्गा की उपासना के लिए घर, मंदिर व धार्मिक स्थलों पर घट स्थापना की जाएगी। शहर के पिपरिया, आमली, टोकरखाड़ा, उलटन फलिया, सुन्दरवन सोसायटी, किलवणी नाका, बस्ता फलिया, डोकमर्डी, भुरकुड़ फलिया, इन्दिरा नगर की सोसायटियां व घरों में नित्य कोरोना बचाव व सावधानियां बरतते हुए दुर्गा पूजा चलेगी। आमली में 9 दिन तक रोजाना पूजा-अर्चना, प्रसाद, अनुष्ठान, आरती आदि आयोजन रखे गए हैं।

नवरात्र के कारण श्रद्धालुओं में खुशी का माहौल है। नवरात्र काल में माता की पूजा के लिए नियमित पुष्पहार, प्रसाद, फल-फूल, श्रीफल, गंगा जल, लोंग-इलायची, पान-सुपारी, सूखा मेवे, कमलपुष्प आदि सामग्री जुटा ली है। महोत्सव से पूर्व दुर्गा मंदिरों में श्रद्धालु आने लगे हैं। कोरोना संक्रमण के चलते इस बार मंदिरों में मां अंबे के दर्शन का लाभ ही प्राप्त हो सकेगा।

80 वर्ष पूर्व आमली गायत्री शक्तिपीठ मंदिर से हुई थी दुर्गा महोत्सव की शुरुआत

दादरा नगर हवेली में दुर्र्गा महोत्सव की शुरुआत 80 वर्ष पूर्व आमली गायत्री शक्तिपीठ मंदिर से हुई थी। बाद में धीरे-धीरे यह पर्व सभी मोहल्लों एवं गांवों तक पहुंच गया। नवरात्र पर्व गांवों में भी धूमधाम से मनाया जाएगा। दादरा, नरोली, मसाट, सायली, गलौंडा, रखोली, सुरंगी, खानवेल, रूदाना, मांदोनी, दुधनी, कौंचा में अंबे माता की घर-घर पूजा होगी। शारदीय नवरात्र 25 अक्टूबर तक चलेंगे।


पंडित धीरज महाराज ने बताया कि इस बार मैया घोड़े पर सवार होकर आ रही हैं। नवरात्र की शुरुआत रविवार या सोमवार को होने पर देवी दुर्गा हाथी पर सवार होकर आती है, वहीं अगर शनिवार या मंगलवार को नवरात्र की शुरुआत होने पर मां घोड़े पर सवार होकर आती है। नवरात्र प्रतिपदा के रोज घट स्थापना का शुभ मुहूर्त 8.21 से 9.31 बजे तक उत्तम है। अभिजित मुहूर्त दोपहर 12.11 बजे से 12.41 बजे तक है।

नवरात्रि में पूजा के लिए लेनी होगी अनुमति
वलसाड. इस बार कोरोना के कारण नवरात्रि में गरबा आयोजन पर पूर्ण रुप से रोक रहेगी। जबकि सोसायटियों व महोल्ले में पूजा आरती के लिए अनुमति लेना अनिवार्य रहेगा। सरकार द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार पार्टी प्लॉटों के साथ सोसायटी तथा शेरी गरबा भी नहीं खेला जाएगा। लेकिन माता जी की आरती पूजा मोहल्ले में या सोसायटी में कर सकते हैं परंतु इसके लिए पुलिस की पूर्व मंजूरी जरूरी है। माता जी की मूर्ति स्थापना के लिए भी अनुमति जरूरी है। लेकिन इस दौरान सुरक्षित दूरी और मास्क पहनने समेत कोरोना की गाइड लाइन का पालन करना होगा। नियमों का पालन न होने पर पुलिस कार्रवाई कर सकती है।

Corona virus
Gyan Prakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned