ये होगा नया अहमदाबाद

बजट हाइलाइट्स

वर्ष २०२२ तक नए अहमदाबाद का निर्माण किया जाएगा। जिसमें गंदगी आवारा पशुओं, ट्रैफिक की समस्या, एयर पॉल्युशन, झोंपड़ पट्टी, रोगों कुपोषण, प्लास्टिक की समस्या, पिराणा स्थित कूड़े के पहाड़, निरक्षरता से मुक्ति का आयोजन है।

बजट हाइलाइट्स
-९६८ करोड़ रुपए के खर्च से बीस फ्लाय ओवर
१५२ करोड़ के खर्च से १५ रेलवे ओवर ब्रिज/ या अंडर ब्रिज
-७०० करोड़ के खर्च से सड़कों का आधुनीकरण
-५०० करोड़ के खर्च से पांच नए मल्टीलेवल पाकिंग
-२०० करोड़ के खर्च से अहमदाबाद के पश्चिम और पूर्व क्षेत्रों में इन्टरनेशनल स्तर के स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स
-४०५ करोड़ के खर्च से शारदा बेन अस्पताल तथा एलजी अस्पताल का नवीनीकरण
नए पांच काम्युनिटी सेंटर और दस अर्बन हेल्थ सेंटर
-२०० करोड़ रुपए के खर्च से दो बायो डाइवर्सिटी पार्क
-डी सेंटरलाइज सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट करने वाली सोसायटी को विशेष ग्रान्ट
- स्लम क्वार्टस की सोसयटी को सिविल मेन्टेनेंस के लिए मेचिंग ग्रान्ट
-हरेक जोन में सी.जी. रोड की तर्ज पर मॉडल रोड
-सभी जोन में हैप्पी स्ट्रीट (लॉ गार्डन जैसी डिजाइन)
-हरेक जोन में एक हाइटेक स्कूल
सभी जोन में एक एक स्वीमिंग पूल
- हरेक वॉर्ड में एक मिनी स्पॉर्ट्स कॉम्पलेक्स
-हरेक रूम में वातानुकूलित पुस्तकालय
-हरेक वॉर्ड में सब्जी मार्केट
-हरेक वार्ड में एक आउटडोर जिम के साथ मॉडल गार्डन
-हरेक वार्ड में एक एक हेल्थ एंड वेलनेश सेंटर


यहां से आएगा रुपया
- २७ रुपए अॅाक्ट्रॉय की एवज में सरकार का अनुदान
- ११ रुपए जनरल टैक्स
- ०७ रुपए वॉटर और कॉन्र्वेन्सी टैक्स
- ०२ रुपए वाहन टैक्स
- ०४ रुपए व्यवसाय टैक्स
- २४ रुपए नोन टैक्स रेवन्यु
- १४ रुपए रेवन्यु ग्रान्ट सब्सिडी और कॉन्ट्रीब्यूशन
- ११ रुपए अन्य आय

यहां जाएगा रुपया
- २९ रुपए एस्टाबिलिसमेंट
- ०२ रुपए एडमिनिस्ट्रेशन एवं जनरल खर्च
- ०८ रुपए मरम्मत एवं रखरखाव
- ०५ रुपए ईंधन खर्च
- ०९ रुपए सर्विस एवं प्रोग्राम खर्च
- १५ रुपए कॉन्ट्रीब्यूशन सब्सिडी एवं अनुदान
- ०१ रुपए लोन चार्जिस एवं अन्य
- ३१ रुपए विकास कार्यों के लिए ट्रान्सफर


ऐसे बढ़ाया टैक्स
महानगरपालिका आयुक्त की ओर से पेश किए गए बजट में समृद्ध लोगों पर वार्षिक टैक्स का भार चार से छह हजार रुपए तक बढ़ जाएगा। जिसमेंकहा गया है चाली एवं झोंपड़ों में रहने वाले लोगों के लिए वार्षिक दर में किसी तरह की वृद्धि नहीं की गई ह ै। इसके अलावा पोल एवं गांवतल में रहने वाले परिवारों पर तीन सौ रुपए वार्षिक कर बढ़ जाएगा। जबकि फ्लेट, टेनामेंट या रॉ हाउस में रहने वाले लोगों पर पांच सौ से सात सौ रुपए का टैक्स बढ़ जाएगा। वहीं बंगलों में रहने वाले लोगों पर अनुमानित टैक्स में तीन हजार से चार हजार रुपए तक वृद्धि हो सकती है।

Omprakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned