एनआईडी के दो विद्यार्थियों की डिजाइन मिलान प्रदर्शनी में हुई प्रदर्शित

NID, Milan design week, Super Salon, Ahmedabad, Students project -राशि ने बनाई है भारत-पाकिस्तान विभाजन के दर्द को बयां करती फुलकारी शॉल, अर्जुनवीर ने विभाजन के चलते गुमनाम मंजू खेस की दिलाई याद

By: nagendra singh rathore

Published: 07 Sep 2021, 09:19 PM IST

अहमदाबाद. राष्ट्रीय डिजाइन संस्थान (एनआई) अहमदाबाद के दो विद्यार्थियों राशि शर्मा और अर्जुनवीर सिंह की डिजाइन को इटली मिलान में 5 सितंबर से शुरू हुई सुपरसलोन प्रदर्शनी में प्रदर्शित किया गया है।
विश्व के 22 देशों के 48 डिजाइन स्कूलों के 170 डिजाइन प्रोजेक्ट को इस प्रदर्शनी में जगह दी गई है। ये डिजाइनें अपने आप में कुछ कहानियों और नई डिजाइन को समेटे हुए हैं। यह प्रदर्शनी उन डिजाइन स्नातकों को एक बेहतर प्लेटफॉर्म देने के लिए 5-10 सितंबर के दौरान इटली मिलान में आयोजित की गई है जो कोरोना महामारी के चलते प्रदर्शनी नहीं होने के कारण अपने प्रोजेक्ट व डिजाइन को प्रदर्शित नहीं कर पाए थे। उन्हें एक बेहतर प्लेटफॉर्म देने के लिए द लॉस्ट ग्रेजुएशन शॉ-2020-21 के तहत इसे आयोजित किया जा रहा है।
इसमें एनआईडी अहमदाबाद की बीए टेक्सटाइल डिजाइन की छात्रा राशि शर्मा के प्रोजेक्ट 'एम्ब्रोडर्ड मेमोरीजÓ के तहत डिजाइन की गई फुलकारी शॉल को जगह दी गई है। राशि बताती हैं कि इसमें भारत-पाकिस्तान के बीच वर्ष 1947 में हुए विभाजन के दौरान लोगों के स्थानांतरण के दर्द की कहानियां समाहित हैं। वे खुद ऐसे परिवार से हैं जिसके परदादा मूलरूप से मौजूदा पाकिस्तान में स्थित रावलपिंडी से ताल्लुक रखते थे लेकिन उन्हें विभाजन के दौरान सबकुछ छोड़कर भारत आना पड़ा। एनआईडी में क्राफ्ट डॉक्युमेंटेशन कोर्स के दौरान उन्होंने इस डिजाइन के बारे में जाना जिसकी उत्पत्ति पंजाब में हुई। चूंकि वे खुद पंजाब से हैं।
उधर बीए टेक्सटाइल के ही छात्र अर्जुनवीर सिंह ने भी भारत-पाकिस्तान के विभाजन के चलते कहीं गुमनामी में खो चुकी डिजाइन मंजू खेस को नई पहचान दिलाने की कोशिश की है। इससे लोगों को एक बार फिर रूबरू कराया है। यह भारत पाकिस्तान विभाजन से पहले काफी प्रचलित थी। यह दरअसल में एक टैक्सटाइल (बेडशीट) की डिजाइन है। यह मुगल उद्यानों की डिजाइन चारबाग (फोर फोल्ड सिमेट्री) पर भी आधारित है। यह इस्लामी वास्तुकला में ज्यादा नजर आती है।

एनआईडी के दो विद्यार्थियों की डिजाइन मिलान प्रदर्शनी में हुई प्रदर्शित
nagendra singh rathore
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned