‘किसी को कानून हाथ में लेने का अधिकार नहीं’

गुजरात उच्च न्यायालय ने शहर के सरदारनगर इलाके में आवारा फिरते पशुओं को पकडऩे गई टीम पर हमले को लेकर नाराजगी जताई है। न्यायाधीश एम.आर. शाह व न्यायाधीश

By: मुकेश शर्मा

Published: 10 Nov 2017, 05:43 AM IST

अहमदाबाद।गुजरात उच्च न्यायालय ने शहर के सरदारनगर इलाके में आवारा फिरते पशुओं को पकडऩे गई टीम पर हमले को लेकर नाराजगी जताई है। न्यायाधीश एम.आर. शाह व न्यायाधीश बिरेन वैष्णव की खंडपीठ ने गुरुवार को कड़ी टिप्पणी करते हुए कहा कि इस तरह का कृत्य करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। किसी को भी कानून हाथ में लेने का अधिकार नहीं है। यदि किसी को कोई शिकायत तो भी इसका मतलब यह नहीं कि कोई कानून को अपने हाथ में ले।

खंडपीठ ने इस मुद्दे पर कड़ा रूख अख्तियार करते हुए कहा कि आवारा-फिरते पशुओं को लेकर हाईकोर्ट के आदेश का पालन करने के लिए सरकारी अधिकारियों को फर्ज से नहीं रोका नहीं जाना चाहिए। इसे काफी गंभीर माना जाएगा वहीं ऐसा करने पर इसे अदालत की अवमानना मानी जाएगी।

खंडपीठ ने कहा कि इस तरह के कृत्य को लेकर कोई भी पुलिस अधिकारी, मनपा कर्मचारी हाईकोर्ट के समक्ष आवदेन कर सकता है। इस पर कानून के हिसाब से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस तरह का कृत्य अदालत की अवमानना माना जाएगा। खंडपीठ ने कहा कि पुलिस विभाग और विशेष समुदाय के लोग तथा इन पशुओं के मालिकों के साथ बैठकर एक एक्शन प्लान बना सकते हैं। मामले की अगली सुनवाई 29 सितम्बर को होगी।

इस मामले में राज्य सरकार की ओर से दलील दी गई कि हाईकोर्ट के आदेश के पालन के तहत शहर की सडक़ों पर आवारा फिरते पशुओं को हटाने की कार्रवाई के दौरान पुलिस प्रशासन और पशु प्रताडऩा नियंत्रण विभाग (सीएनसीडी) को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कई जगहों पर पशु मालिकों की ओर से इस तरह की परेशानी हो रही है। इनकी ओर से कानून-व्यवस्था खराब बिगड़ती है।

सरकार की ओर से कहा गया कि पुलिस विभाग और शहर के 47 थानों ने मालधारियों के साथ बैठक की है। इस समस्या के समाधान के लिए प्रयास जारी हैं। फिलहाल चुनावी माहौल है और चुनावी आचार संहिता लागू है। इसलिए इन परिस्थितियों में अंतरिम समाधान लाने का प्रयास किया जाएगा। चुनाव के बाद इस समस्या का स्थायी समाधान लाया जाएगा। इसके अलावा मालधारियों के पुनर्वास के संबंध में भी निर्णय लिया जाएगा।

राज्य सरकार ने कहा कि शहर के सरदानगरइलाके में पुलिस व सीसीएनडी के टीम पर हमला किया गया। इस घटना में सरदारनगर थाने के पुलिस निरीक्षक के. वी. दवेरा गंभीर रूप से घायल हो गए।

 

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned