समुद्री किनारे पर खारापन रोकने को 102 करोड़ से बनेगी स्प्रेडिंग कैनाल

ocean, canal, CM rupani, gandhinagar, gujara news: मुख्यमंत्री रुपाणी ने दी सैद्धांतिक मंजूरी

By: Pushpendra Rajput

Published: 20 Jun 2021, 09:46 PM IST

गांधीनगर. मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने राज्य के समुद्री किनारे के इलाकों में खारापन रोकने को लेकर योजना बनाई है। इसके मद्देनजर सौराष्ट्र के समुद्री किनारे बसे गिर सोमनाथ जिले के गांवों में समुद्री क्षार पर नियंत्रण पाने और जमीन के खारेपन को रोकने के लिए 102 करोड़ रुपए की लागत से योजना को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है।

इस योजना में आदरी बंधारा से मूल द्वारका तक समुद्री क्षार को रोकने के लिए 40 किलोमीटर स्प्रेडिंग कैनाल बनाई जाएगी। ऐसा होने से गिर सोमनाथ जिले के वेरावल और सूत्रापाडा तालुका के 23 गांवों की करीब 2110 हेक्टेयर से ज्यादा जमीन में समुद्री खारापन रोका जा सकेगा। इसके जरिए जमीन और उपचाऊ बनेगी। इसके अलावा कैनाल में जमा मीठे पानी का उपयोग सिंचाई में हो सकेगा। स्प्रेडिंग कैनाल के पानी से आसपास के कुएं-तालाबों को जलस्तर ऊपर आएगी। इसके जरिए आसपास के इलाकों में पीने लायक मीठा पानी भी मिलने लगेगा।

गिर सोमनाथ जिले में 101.99 करोड़ रुपए की लागत से आद्री से मूल द्वारका तक 40.50 किलोमीटर में स्प्रेडिंग कैनाल बनाई जाएगी। क्रॉस ड्रेनेज वर्क, राष्ट्रीय राजमार्ग और रेलवे क्रॉसिंग के साथ छोटे-बडे 81 स्ट्रक्चर्स बनाए जाएंगे। भूगर्भीय जलस्तर बढऩे से विशेषतौर वेरावल शहर एवं सूत्रापाडा शहर के लोगों को पीने लायक पानी मिलने लगेगा। साथ ही वेरावल शहर में देवका नदी की बाढ़ का पानी घुसने भी राहत मिलेगी। वहीं सौराष्ट्र के 87,797 हेक्टेयर जमीन में उपजाऊपन बढ़ेगा और खारापन रोका जा सकेगा।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned