scriptonly 4 time consensus made for the post of Vice President of India | Vice President election: उपराष्ट्रपति पद के लिए सिर्फ चार बार बन सकी आम सहमति | Patrika News

Vice President election: उपराष्ट्रपति पद के लिए सिर्फ चार बार बन सकी आम सहमति

only 4 time, consensus, Vice President of India, Jagdeep Dhankad, Margaret Alwa

अहमदाबाद

Published: July 21, 2022 11:42:36 pm

only 4 time consensus made for the post of Vice President of India

उदय पटेल

उपराष्ट्रपति पद के लिए अगले महीने चुनाव होना है। देश के दूसरे सबसे बड़े संवैधानिक पद को लेकर एनडीए की ओर से जगदीप धनखड़ और विपक्षी दलों की साझा उम्मीदवार मारर्गेट अल्वा ने नामांकन दाखिल कर दिया है। इसलिए इस बार चुनाव होगा। उपराष्ट्रपति पद के चुनावों के इतिहास पर गौर करें तो पता चलेगा कि इस पद के लिए सिर्फ चार बार ही आम सहमति बन सकी।
अब तक देश में 13 उपराष्ट्रपति हो चुके हैं। दो उपराष्ट्रपति-एस. राधाकृष्णन और डॉ हामिद अंसारी लगातार दो कार्यकाल तक इस पद पर रहे। 6 उपराष्ट्रपति बाद में राष्ट्रपति भी बने। उपराष्ट्रपति पद के लिए 15 बार में से 11 बार चुनाव हुए।
वर्ष 1952 में पहले उपराष्ट्रपति राधाकृष्णन निर्विरोध चुने गए। 1957 में भी यही स्थिति रही। 1979 में मोहम्मद हिदायतुल्लाह भी बिना किसी चुनाव के जीत गए। अंतिम बार 1987 में शंकर दयाल शर्मा इस पद के लिए निर्विरोध चुने गए।
दो उपराष्ट्रपति-एस. राधाकृष्णन और डॉ हामिद अंसारी लगातार दो कार्यकाल तक इस पद पर रहे। इनके साथ-साथ डॉ जाकिर हुसैन, बी डी जत्ती, हिदायतुल्लाह, गोपाल स्वरूप पाठक, आर वेंकटरमण, भैरों सिंह शेखावत, ए पी जे अब्दुल कलाम एक कार्यकाल के लिए उपराष्ट्रपति चुने गए।
जत्ती, वेंकटरमण, शर्मा, नारायणन, अंसारी कांग्रेस के उम्मीदवार रहे वहीं शेखावत, ए. पी. जे. अब्दुल कलाम व वर्तमान उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू भाजपा के नेतृत्व वाली एनडीए की ओर से उम्मीदवार रहे। राधाकृष्णन, हुसैन, गिरी, हिदायतुल्लाह ने किसी भी दल का प्रतिनिधित्व नहीं किया। कृष्णकांत जनता दल के प्रत्याशी थे।
70 वर्षों के इतिहास में नायडू अकेले ऐसे उपराष्ट्रपति हैं जिनका जन्म आजादी के बाद हुआ। अब तक इस पद पर कोई महिला नहीं चुनी जा सकी हैं।
Vice President: उपराष्ट्रपति पद के लिए सिर्फ चार बार बन सकी आम सहमति
Vice President: उपराष्ट्रपति पद के लिए सिर्फ चार बार बन सकी आम सहमति
गिरी सबसे कम समय तक पद पर रहे

वी वी गिरी सबसे कम समय तक इस पद पर रहे। उन्होंने मई 1967 से 1969 तक उपराष्ट्रपति पद को सुशोभित किया। कृष्णकांत ऐसे एकमात्र उपराष्ट्रपति रहे जिनका निधन इस पद पर रहते हुए हुआ।
उपराष्ट्रपति पद के लिए लोकसभा और राज्यसभा के सांसद वोट डालते हैं। फिलहाल दोनों सदनों को मिलाकर सांसदों की संख्या 780 है। उपराष्ट्रपति राज्यसभा के पदेन सभापति होते हैं।

ये हुए अब तक उपराष्ट्रपति
नाम अवधि
1. एस राधाकृष्णन 1952-57
2. एस राधाकृष्णन 1957-62
3. जाकिर हुसैन 1962-67
4. वी वी गिरी 1967-69
5. गोपाल स्वरूप पाठक 1969-74
6. बी डी जत्ती 1974-79
7. एम. हिदायतुल्लाह 1979-84
8. आर. वेंकटरमण 1984-87
9. शंकर दयाल शर्मा 1987-92
10. के आर नारायणन 1992-97
11. कृष्ण कांत 1997-02
12. भैरों सिंह शेखावत 2002-07
13. हामिद अंसारी 2007-12
14. हामिद अंसारी 2012-17
15. वेंकैया नायडू 2017 से अब तक

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहारः कांग्रेस ने बुलाई विधायकों की बैठक, नीतीश कुमार के साथ जाने पर बन सकती है सहमति!Maharashtra Cabinet Expansion: कल 15 मंत्री लेंगे शपथ, देवेंद्र फडणवीस को मिलेगा गृह विभाग? जानें शिंदे कैबिनेट के संभावित मंत्रियों के नाम'इनकी पुरानी आदत है पूरे सिस्टम पर हमला करने की', कपिल सिब्बल के बयान पर बोले कानून मंत्री किरेण रिजिजूअरविंद केजरीवाल ने कहा- देश की राजनीति में परिवारवाद और दोस्तवाद खत्म कर भारतवाद लाएंगेAmit Shah Visit To Odisha: अमित शाह बोले- ओडिशा में अच्छे दिन अनुभव कर रहे लोग, सीएम नवीन पटनायक की तारीफ भी की'नीतीश BJP का साथ छोड़े तो हम गले लगाने को तैयार', बिहार में मचे सियासी घमासान पर बोले RJD नेता शिवानंद तिवारीगालीबाज भाजपा नेता पर रखा गया 25 हजार का इनाम, 40 टीमें तलाश में जुटीTET घोटाले में हुआ बड़ा खुलासा, शिंदे गुट के विधायक अब्दुल सत्तार की बेटियों के नाम आए सामने, शिवसेना ने बोला हमला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.