हार्दिक पटेल के कांग्रेस में शामिल होने पर पास की मुहर

हार्दिक पटेल के कांग्रेस में शामिल होने पर पास की मुहर

nagendra singh rathore | Updated: 07 Mar 2019, 08:47:44 PM (IST) Ahmedabad, Ahmedabad, Gujarat, India

जामनगर से लडेंगे चुनाव, राहुल गांधी साथ मंच भी करेंगे साझा,
राजकोट में हुई बैठक में साथी संयोजकों ने दी हरी झंड़ी

अहमदाबाद. पाटीदारों को ओबीसी आरक्षण दिलाने के लिए गुजरात में आंदोलन के जरिए आवाज बुलंद करने वाले युवा पाटीदार नेता हार्दिक पटेल के कांग्रेस का हाथ थामने की अटकलों पर गुरुवार को विराम लग गया। हार्दिक पटेल 12 मार्च को अहमदाबाद में होने जा रही कांग्रेस पार्टी की कांग्रेस वर्किंग कमेटी (सीडब्ल्यूसी) की बैठक के बाद अडालज में होने जा रही कांग्रेस पार्टी की जनसभा और रैली के दौरान कांग्रेस पार्टी में शामिल होंगे। इस दौरान कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी, महामंत्री प्रियंका गांधी और यूपीए अध्यक्षा सोनिया गांधी के साथ मंच भी साझा करेंगे।
हार्दिक पटेल के कांग्रेस में शामिल होने की अटकलों के बीच गुरुवार को राजकोट में पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति (पास) की कोर कमेटी की एक बैठक हुई। जिसमें हार्दिक पटेल को राजनीति में जाने के लिए पास की ओर से मंजूरी दे दी गई है।
इस बैठक में शामिल पास के अहमदाबाद संयोजक जयेश पटेल ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि हार्दिक पटेल के राजनीति में जाने के मुद्दे पर इस बैठक में चर्चा हुई। सभी संयोजकों ने हार्दिक पटेल के राजनीति में जाने पर सहमति जताते हुए उन्हें इसकी मंजूरी दे दी। वे चाहें चुनाव लड़ें या ना लड़ें लेकिन वह राजनीति में जाकर किसानों की, बेरोजगार युवाओं की, पाटीदार समाज की, महिलाओं की आवाज को बुलंद करेंगे।
जयेश पटेल ने इस बात की भी पुष्टि की कि हार्दिक पटेल संभवत: जामनगर सीट से चुनाव लड़ सकते हैं।
सूत्रों की मानें तो हार्दिक पटेल की इच्छा महेसाणा से चुनाव लडऩे की है। इसके अलावा अमरेली सीट पर भी हार्दिक के चुनाव लडऩे की संभावना जताई जा रही है, लेकिन इन दोनों ही सीटों पर समीकरण फिलहाल हार्दिक के ज्यादा पक्ष में दिखाई नहीं दे रहे हैं। महेसाणा में हार्दिक के प्रवेश करने पर कोर्ट की पाबंदी है। वहीं अमरेली सीट में लेऊआ पाटीदारों की संख्या ज्यादा है, जबकि हार्दिक पटेल कड़वा पाटीदार हैं। ऐसे में राजनीति में कब क्या हो जाए उसे देखते हुए अमरेली से हार्दिक को शायद टिकट नहीं मिले। हार्दिक पटेल के जामनगर सीट से लडऩे की प्रबल संभावना सूत्र जता रहे हैं।
वैसे हार्दिक पटेल ने कुछ समय पहले ही राजनीति में सक्रिय होने की बात कही थी। लेकिन यह स्पष्ट नहीं किया था कि वह कब और कौन सी राजनीतिक पार्टी से चुनाव लड़ेंगे। गुरुवार को यह स्थिति भी पूरी तरह से साफ हो गई। हार्दिक ने चुनाव लडऩे को लेकर अपने समर्थकों से सोशल मीडिया (फेसबुक) पर पोल भी कराया था, जिसमें भी उन्हें ६७ प्रतिशत के करीब समर्थकों ने चुनाव लडऩे के लिए आगे आने को कहा था।
अभी मुख्य चेहरा अल्पेश
पाटीदारों को आरक्षण के लिए जो लड़ाई हार्दिक पटेल की अगुवाई में पास की कोर कमेटी ने छेड़ी थी। वह काफी हद तक सफल हुई है। देशभर में सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को 10 प्रतिशत ईडब्ल्यूएस आरक्षण देने का फैसला केन्द्र सरकार ने लिया है। दोनों ही सदनों से विधेयक भी पारित हो गया है। इसे लागू भी किया जाने लगा है। यदि इस 10 प्रतिशत ईडब्ल्यूएस आरक्षण के संदर्भ में आगे कोई दिक्कत आती है तो फिर से मांग बुलंद की जाएगी। ऐसा नहीं है कि हार्दिक के राजनीति में जाने से पास बिखर जाएगी। अभी भी पाटीदार आरक्षण आंदोलन के दौरान पाटीदार युवाओं पर जो केस दर्ज हुए हैं उन्हें वापस लेने की मांग अडिग है। पास की कमान हार्दिक की ओर से अल्पेश कथीरिया को पहले ही सौंपी जा चुकी है। अल्पेश फिलहाल जेल में हैं। कब बाहर आएंगे पता नहीं है, तब तक हार्दिक पटेल पास में पूरी तरह से सक्रिय रहेंगे। आगे का फैसला कोर कमेटी करेगी।

Hardik Patell  <a href=PAAS meeting" src="https://new-img.patrika.com/upload/2019/03/07/hardik_patel-paas_meeting_in_rajkot_4244126-m.jpg">
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned