निजी अस्पताल में छुट्टी देने के दिन मरीज की मौत

निजी अस्पताल में छुट्टी देने के दिन मरीज की मौत

Rajesh Bhatnagar | Publish: Sep, 11 2018 11:37:43 PM (IST) | Updated: Sep, 11 2018 11:38:40 PM (IST) Ahmedabad, Gujarat, India

चिकित्सकों की लापरवाही से मौत का आरोप, शव स्वीकारने से इनकार

वडोदरा. शहर के एक अस्पताल में छुट्टी देने के दिन एक मरीज की मौत होने पर परिजनों ने चिकित्सकों की लापरवाही से मौत का आरोप लगाते हुए शव स्वीकारने से इनकार कर दिया।
शहर के छाणी क्षेत्र निवासी व स्टील ट्रेडिंग के व्यापारी प्रफुल पटेल को दो दिन पहले चक्कर आने के बाद गिरने पर स्थानीय अस्पताल में भर्ती करवाया गया। वहां चिकित्सकों ने मस्तिष्क की नस ब्लॉक होने की जानकारी दी। इसके बाद प्रफुल को अलकापुरी स्थित अस्पताल में भर्ती करवाया।
चिकित्सकों के अनुसार नस ब्लॉक होने पर मरीज को लगाया जाने वाला विशेष इंजेक्शन नस ब्लॉक होने के साढ़े चार घंटे में लगाना होता है। विन्स अस्पताल में प्रफुल को पहुंचाने के 3 घंटे बाद चिकित्सकों ने विशेष इंजेक्शन लगाया। इसके बाद उसके मस्तिष्क की नस का ब्लॉकेज व पीठ में दर्द रहने की चिकित्सकों ने जानकारी दी।
उसके परिवारजनों को बताया गया कि मंगलवार सवेरे 10 बजे अस्पताल से छुट्टी दी जाएगी। इधर, मंगलवार सवेरे अस्पताल से परिवारजनों को फोन पर सूचित किया गया कि प्रफुल की मौत हो गई। तुरंत अस्पताल पहुंचे परिवारजनों ने प्रफुल की मौत के बारे में सवाल किया। चिकित्सकों ने मौत का कोई कारण नहीं बताया।
इसके बाद परिवारजनों ने अस्पताल में हंगामा किया और मौत का कारण पता लगने तक शव स्वीकारने से इनकार कर दिया। परिवाजनों ने लापरवाही बरतने वाले चिकित्सक अथवा अस्पताल की ओर से प्रफुल के इलाज का खर्च वहन करने की मांग की। सूचना मिलने पर स्थानीय पुलिस थानाकर्मी अस्पताल पहुंचे और हालात नियंत्रित करने के प्रयास शुरू किए।

वृद्धा की हत्या व लूट का मामला दर्ज : दो आरोपी, गला दबाकर मौत के घाट उतारा, 15 तोला सोना ले गए
गांधीधाम. कच्छ जिले के गांधीधाम शहर के खोडियार नगर निवासी एक वृद्धा की शंकास्पद मौत के बाद हत्या की आशंका जताने पर हत्या व लूट का विधिवत मामला दर्ज किया गया है।
पुलिस सूत्रों के अनुसार खोडियार नगर निवासी राजेश घीसा चौचेटिया ने इस संबंध में मामला दर्ज करवाया है। शिकायत के अनुसार वे चार भाई हैं और मुंबई में चप्पल का व्यवसाय करते हैं। उनकी माता सुंदरदेवी (74 वर्ष) पिछले 36 वर्ष से अकेली रहती हैं। शनिवार रात्रि 11 बजे से रविवार शाम 4 बजे के दौरान दो अज्ञात व्यक्तियों ने मकान में प्रवेश कर मुंह दबाकर श्वास रोककर हत्या कर करीब साढ़े तीन लाख रुपए के 14-15 तोला सोने के गहने लूटकर फरार हो गए।
उस समय आकस्मिक मौत का मामला ए डिविजन पुलिस थाने में दर्ज किया था। पोस्टमार्टम की प्रारंभिक रिपोर्ट में श्वास रुकने से मौत होने का खुलासा होने पर वे गांधीधाम पहुंचे। उनकी माता को गहने पहनना पसंद था लेकिन शरीर से गहने गायब होने के कारण लूट के इरादे से हत्या कर गहने लूट ले जाने की आशंका हुई। उसने दो अज्ञात व्यक्तियों के विरुद्ध मामला दर्ज करवाया है। निरीक्षक बी.एस. सुथार ने जांच शुरू की है।

Ad Block is Banned