जामनगर यार्ड के ओपन मार्केट में मूंगफली की आवक शुरू

मूंगफली की आवक ज्यादा होने से लगाया था नो एंट्री का बोर्ड, छह दिन बाद हटा

By: Gyan Prakash Sharma

Published: 25 Nov 2018, 11:23 PM IST

जामनगर. समर्थन मूल्य पर मूंगफली की बिक्री में अनेक समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए किसान खुले मार्केट यार्ड में मूंगफली की बिक्री कर रहे हैं। ऐसे में मार्केट यार्ड में माल की आवक ज्यादा होने से जामनगर हापा मार्केट में नो एंट्री का बोर्ड लग गया था, जो हटने के बाद रविवार को यार्ड में मूंगफली की आवक शुरू हो गई।
जामनगर यार्ड में एक ओर समर्थन मूल्य पर खरीदी हो रही है, तो दूसरी ओर खुले बाजार में भी बड़ी संख्या में किसान मूंगफली बेचने के लिए जा रहे हैं। गत सोमवार तक यार्ड में ८० हजार बोरियों की खरीदी की गई, जिसके चलते यार्ड में चारों ओर मूंगफली के ढेर लगे हैं, जिसके चलते सोमवार दोपहर को यार्ड में मूंगफली की आवक बंद कर दी गई और नो एट्री का बोर्ड लगा दिया गया था। बोर्ड पर लिखा है कि जब तक यार्ड में पड़ी मूंगफली का सुरक्षित स्थल पर नहीं पहुंचाया जाएगा, तब तक नई मूंगफली की आवक बंद रखी गई है। अब मूंगफली को बारदानों में भरने की कार्रवाई के चलते छह बाद रविवार से पुन: मूंगफली की आवक शुरू की गई है।


इसलिए बेच रहे खुले बाजार में :
समर्थन मूल्य पर मूंगफली बेचने में होने वाली परेशानियों के चलते ज्यादातर किसान खुले बाजारों में मूंगफली की बिक्री कर नकद पैमेंट ले रहे हैं। समर्थन मूल्य पर बेचने की बजाए खुले बाजार में मूंगफली की बिक्री कर रहे हैं, जिसके अनेक कारण हैं। किसानों का कहना है कि समर्थन मूल्य पर मूंगफली बेचने के लिए आवश्यक दस्तावेजों की आवश्यकता होती है। साथ ही ऑनलाइन पंजीकरण करना होता है और मूंगफली रिजेक्ट होना डर भी रहता है। इन परेशानियों के बाद मूंगफली बिक भी जाती है तो पैमेंट उसी दिन नहीं मिलता है। दूसरी ओर, खुले बाजार में ना पंजीकरण कराना पड़ता है और ना ही मूंगफली रिजेक्ट होती है। साथ में पैमेंट भी बिक्री के साथ ही मिल जाता है, जबकि ऑनलाइन प्रक्रिया में भेज वाली मूंगफली रिजेक्ट की जा रही है।

Gyan Prakash Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned