मूंगफली के गोदाम में फिर आग

जिले की कोटडा सांगाणी तहसील के शापर-वेरावळ में इंडस्ट्रीयल एरिया में नेशनल कॉटन इंडस्ट्रीज नामक गोदाम में रविवार देर रात को मूंगफली ...

By: मुकेश शर्मा

Published: 24 May 2018, 11:15 PM IST

3.75 करोड़ की मूंगफली नष्ट होने का अनुमान, जांच सीआईडी को सौंपी

14 फायर फाइटर की मदद से 200 टैंकर पानी भी कम पड़ा

राजकोट।जिले की कोटडा सांगाणी तहसील के शापर-वेरावळ में इंडस्ट्रीयल एरिया में नेशनल कॉटन इंडस्ट्रीज नामक गोदाम में रविवार देर रात को मूंगफली में आग लग गई। 14 फायर फाइटरों की मदद से आग पर काबू पाने का प्रयास सोमवार को भी जारी रहा। करीब 3.75 करोड़ रुपए की मूंगफली भरी 28 हजार बोरियां जलकर खाक होने का प्रारंभिक अनुमान है। ऐसा दूसरी बार हुआ है जब राजकोट जिले में मूंगफली के सरकारी गोदाम में फिर आग लगी है। इससे पहले लगी आग पर भी अंगुलियां उठी थी।

सूत्रों के अनुसार, शापर-वेरावळ में इंडस्ट्रीयल एरिया में नेशनल कॉटन इंडस्ट्रीज नामक गोदाम में रविवार देर रात देखते ही देखते आग की लपटें बढऩे लगी। सूचना मिलने पर राजकोट, धोराजी, विरपुर, जेतपुर, गोंडल व जसदण से 14 फायर फाइटर मौके पर पहुंचे। करीब 200 टैंकर पानी का उपयोग करने के बावजूद आग पर काबू पाने का प्रयास सोमवार को भी जारी रहा। चार गोदाम में लगी आग पर काबू पाने के लिए जेसीबी मशीन के जरिये दीवार तुड़वाकर फायर फाइटर से पानी डलवाया जा रहा है।


प्रारंभिक जांच के अनुसार आग से करीब 3.75 करोड़ रुपए की 28 हजार बोरियों में भरी मूंगफली के नुकसान का अनुमान है। जिला कलक्टर राहुल गुप्ता, जिला पुलिस अधीक्षक (एसपी) अंतरीप सूद, उपाधीक्षक भी मौके पर पहुंचे। गोदाम में नाफेड की ओर से 21 हजार फीट भूमि किराए पर ली गई है, इसमें छह गोदाम बनाए हैं। सरकार की ओर से समर्थन मूल्य पर खरीदी मूंगफली चार गोदाम मेंं रखी है और करीब 28 हजार बोरियां भरी मूंगफली आग के कारण खाक हो गई। शेष दो गोदाम में रखी 14 हजार बोरियों में भरी मूंगफली बचाई गई है। जानकारी के अनुसार गोदाम के संचालक नरेंद्र पटेल हैं।

 

14 फायर फाइटर की मदद से 200 टैंकर पानी भी कम पड़ा

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned