Gujarat: मोदी ने कहा, इज ऑफ जस्टिस से इज ऑफ डूइंग बिजनेस भी बढ़ा

PM Narendra Modi, Gujarat high court, Ease of justice

By: Uday Kumar Patel

Published: 06 Feb 2021, 10:46 PM IST

अहमदाबाद. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि न्याय क्षेत्र में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग और ई-फाइलिंग जैसे प्रयोगों से न्यायपालिका में इज ऑफ जस्टिस को नया आयाम दिया है। इज ऑफ जस्टिस (सुलभ न्याय) के चलते इज ऑफ डूइंग बिजनेस भी बढ़ा है। क्योंकि विदेशियों को भारत में उनके कानूनी अधिकारों को सुरक्षित होने का एहसास होता है। भारत में आने वाले दिनों में इज ऑफ जस्टिस बढऩे के लिए एनआईसी के साथ मिलकर सुप्रीम कोर्ट काम कर रही है। क्लाउड बेस आधारित सिस्टम पर कार्य जारी है। न्याय प्रणाली में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की संभावनाएं भी तलाशी जा रही हैं।

उन्होंने कहा कि कानून के शासन की अवधारणा भारतीय मूल्यों का एक हिस्सा है। यह हर नागरिक का अधिकार है। विश्व स्तरीय न्याय प्रणाली स्थापित करना न्यायपालिका और सरकार की जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि न्यायपालिका में विश्वास ने ही आम आदमी को सच्चाई के लिए लडऩेे का बल दिया है।

गुजरात हाईकोर्ट की स्थापना 1 मई 1960 को हुई थी। इसके 60 वर्ष गत वर्ष पूरे हो गए थे, लेकिन कोविड के कारण यह समारोह नहीं हो सका था। इसलिए शनिवार को आयोजित समारोह में प्रधानमंत्री ने गुजरात हाई कोर्ट के हीरक जयंती पर डाक टिकट जारी किया।

PM Narendra Modi
Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned