पुलिस की कार्रवाई है समाज के प्रति सेवा : एडीजीपी सहाय

जूनागढ़ में 86 लोक रक्षक प्रशिक्षणार्थियों की दीक्षांत परेड, पुलिस सेवा में जुड़ेंगे

By: Rajesh Bhatnagar

Updated: 10 Feb 2021, 10:59 PM IST

जूनागढ़. गुजरात के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) (प्रशिक्षण) विकास सहाय ने कहा कि पुलिस की कार्रवाई समाज के प्रति सेवा है, इसलिए समाज के प्रत्येक व्यक्ति की अपेक्षा को ध्यान में रखकर संवेदनशीलता से फर्ज निभाना चाहिए।
वे यहां राज्य आरक्षित प्रशिक्षण केन्द्र की ओर से चौकी (सोरठ) परिसर में गैर हथियारधारी लोक रक्षक के बैच संख्या 111 के 86 प्रशिक्षणार्थियों के दीक्षांत परेड समारोह के अवसर पर बोल रहे थे। 7 महिलाएं व 79 पुरुष सहित 86 ्रप्रशिक्षणार्थी 8 महीने का प्रशिक्षण पूराकर अपने कार्यक्षेत्र पुलिस सेवा में जुड़ेंगे।
इस अवसर पर सहाय ने कहा कि प्रशिक्षणार्थियों को कार्यक्षेत्र (फील्ड) में चुनौतियों का उचित तरीके से सामना करते हुए इनडोर व आउटडोर प्रशिक्षण को अमल में लाना चाहिए। केन्द्र के उप महानिरीक्षक (डीआईजी) व प्राचार्य बी.आर. पांडोर ने अपने निर्देशन में कच्छ, गिर सोमनाथ, अरवल्ली जिलों के 86 प्रशिक्षणार्थियों को इनडोर व आउटडोर प्रशिक्षण के बाद कार्यक्षेत्र मेंं कार्यरत रहने की शपथ दिलाई।

इनको किया इनाम से प्रोत्साहित

8 महीनों में इनडोर व आउटडोर प्रशिक्षण के दौरान अच्छे अंक प्राप्त करने पर दीक्षांत समारोह में दिनेश चौधरी, कुलदीपसिंह वाघेला, हर्षना वसावा, अश्विन हेरभा, नरसिंह गोहिल, नरेश तराल, लाला चौधरी को इनाम देकर प्रोत्साहित किया गया।
इस अवसर पर जूनागढ़ जिले के पुलिस अधीक्षक रवि तेजा वासम शेट्टी, उपाधीक्षक व केन्द्र के उप प्राचार्य भगीरथसिंह गोहिल, अन्य उपाधीक्षक, निरीक्षक, उप निरीक्षक सहित पुलिसकर्मी, प्रशिक्षणार्थियों के अभिभावक, नए बैच के प्रशिक्षार्थी मौजूद थे।

पुरस्कार से सम्मानित होने पर गर्व

प्रशिक्षण के दौरान अच्छा प्रदर्शन करने पर दीक्षांत समारोह में पुरस्कार से सम्मानित किए जाने पर गर्व का अनुभव हो रहा है। प्रशिक्षण पूरा हुआ है, अब निष्ठा के साथ फर्ज निभाऊंगी।
- हर्षनाबेन वसावा

Rajesh Bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned