आणंद. शहर में गोपी सिनेमा के समीप योगी बेकरी के निकट शराब के नशे की हालत में गुजराती नववर्ष पर गुरुवार रात को टेम्पो में बेहोश मिले युवक की अस्पताल में मौत के बाद मृतक के परिजनों व समाज के लोगों ने अस्पताल में व थाने में हंगामा करते हुए पुलिसकर्मियों की पिटाई से युवक की मौत का आरोप लगाया।
सूत्रों के अनुसार, गोपी सिनेमा के समीप रहने वाला अशोक रणछोड़ सरगरा अपने मकान के निकट गुरुवार रात को नशे में अपने टेम्पो में सो रहा था। पुलिसकर्मी पहले उसे थाने ले गए, वहां से अस्पताल पहुंचाया। अस्पताल में अशोक की शंकास्पद हालत में मौत हो गई।
पुलिस सूत्रों के अनुसार, सूचना मिली कि टेम्पो में अशोक बेहोश पड़ा है। पुलिसकर्मियों ने उसे अस्पताल पहुंचाया, वहां उसकी मौत हो गई। आकस्मिक मौत का मामला दर्ज किया। इधर, मृतक के भाई प्रवीणसिंह ने पुलिस पर आरोप लगाया कि उसका भाई अशोक शराब पीकर टेम्पो में सो रहा था। उस समय आणंद टाऊन पुलिस थानाकर्मियों ने वहां पिटाई की और पुलिस के वाहन में उसे थाने पर ले जाया गया, पिटाई से अशोक की मौत का आरोप भी प्रवीण सिंह ने लगाया।
मृतक के शव का पोस्टमार्टम करवाकर पुलिसकर्मी शुक्रवार सवेरे परिजनों को शव सौंपने की तैयारी कर रहे थे। शव स्वीकारने के लिए प्रवीणसिंह के हस्ताक्षर भी करवाए गए। इस बीच, युवक की शंकास्पद मौत की घटना को लेकर समाज के पदाधिकारियों व अन्य लोगों ने बड़ी संख्या में अस्पताल पहुंचकर शंकास्पद मौत का मामला दर्ज करने की मांग की। मांग स्वीकार ना करने तक शव स्वीकारने से इनकार भी कर दिया।
मृतक के परिजन व रिश्तेदार अस्पताल के मुख्य द्वार के समीप बैठ गए और चक्काजाम कर दिया। इस कारण अस्पताल में पुलिस बंदोबस्त तैनात किया गया। सूचना मिलने पर उपाधीक्षक बी.डी. जाडेजा, आणंद नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष विजय मास्तर, सांसद दिलीप पटेल भी अस्पताल पहुंचे।
इसके बाद सभी ने थाने पर पहुंचकर हंगामा किया और मामला दर्ज करने की मांग की। नगरपालिका में विपक्ष के नेता अल्पेश पढिय़ार भी थाने पर पहुंचे। इसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज करने का आश्वासन दिया। शुक्रवार देर शाम करीब नौ घंटे बाद मृतक के परिजनों ने शव स्वीकार कर अंतिम संस्कार किया।

Ad Block is Banned