‘गोमाता में किसानों को आत्मनिर्भर बनाने की ताकत’

राष्ट्रीय कामधेनु आयोग के चेयरमैन डॉ. वल्लभ कथीरिया ने कहा

जूनागढ़ में पंचगव्य प्रशिक्षण वर्ग शुरू

By: Rajesh Bhatnagar

Published: 26 Dec 2020, 10:53 PM IST

जूनागढ़. राष्ट्रीय कामधेनु आयोग के अध्यक्ष डॉ. वल्लभ कथीरिया ने कहा कि गोमाता में किसानों को आत्मनिर्भर बनाने की ताकत है। वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की गोसेवा गतिविधि के सौराष्ट्र प्रांत की ओर से पंचगव्य प्रशिक्षण वर्ग का उद्घाटन करने के बाद बोल रहे थे।
जूनागढ़ में पुराने स्वामीनारायण मंदिर में गोपूजन कर चार दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग की शुरुआत करने के बाद डॉ. कथीरिया ने कहा कि गाय से स्वास्थ्य, पर्यावरण, समाज, अर्थव्यवस्था और खेती सुरक्षित रहती है। गोमाता में कामधेनु की शक्ति बताते हुए उन्होंने कहा कि भारत को आत्मनिर्भर बनाने के साथ खेती को पेस्टीसाइड और रासायनिक खाद से मुक्त बनाने के साथ गोमाता में गांवों के किसानों को आत्मनिर्भर बनाने की ताकत है।
उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है, जब गाय आधारित खेती के साथ गाय आधारित उद्योग, काऊ टूरिज्म सहित नए क्षेत्र खुल रहे हैं। भारत सरकार की ओर से भी पशुपालन व्यवसाय को प्रधान सेक्टर में शामिल किया गया है, इससे बैंकों से ऋण मिलेगा और स्टार्टअप शुरू हो सकते हैं।
आरएसएस के सौराष्ट्र प्रांत के प्रचारक महेशभाई जीवाणी ने कहा कि गोसेवा गतिविधि, पर्यावरण गतिविधि, ग्राम विकास गतिविधि आदि के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि समग्र अर्थव्यवस्था में गोसेवा का महत्वपूर्ण स्थान है। पश्चिमी और भारतीय संस्कृति की तुलना करते हुए उन्होंने कहा कि गोसेवा में एकाधिकार नहीं, अपनी वस्तुओं का विस्तार करना है। पुराने स्वामीनारायण मंदिर के कोठारी स्वामी ने गो पालन का महत्व समझाया।
गोसेवा गतिविधि के अखिल भारतीय सह संयोजक अजीत प्रसाद महापात्र ने गोसेवा आयामों के बारे में जानकारी दी। समग्र सौराष्ट्र में गोशाला संचालित करने, गो आधारित प्राकृतिक खेती करने, गोपालन में विशेष रूचि लेने के साथ गोबर मोबाइल चिप, धूपबत्ती, मच्छर धूपबत्ती, मच्छर कोईल, गोबर के दीये, ठोस जीवामृत, सेंद्रिय खाद सहित गाय के गोबर, गोमूत्र से 35 से अधिक वस्तुएं उत्पादित करने वाले चयनित 110 गोप्रेमी इस वर्ग में हिस्सा ले रहे हैं। गोसेवा गतिविधि के प्रांत संयोजक मेघजी हिराणी, उप पशुपालन निदेशक डॉ. दिलीप पानेरा आदि भी मौजूद थे।

Rajesh Bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned