ग्राम सभा ना करने पर स्टेक होल्डर्स की दूसरी बैठक में भी हंगामा

बुलेट ट्रेन जमीन अधिग्रहण मामला

By: Rajesh Bhatnagar

Published: 25 Apr 2018, 11:03 PM IST

वडोदरा. नेशनल हाई स्पीड रेल कॉर्पोरेशन की ओर से अहमदाबाद-मुंबई बुलेट ट्रेन परियोजना के लिए जमीन अधिग्रहण के मुद्दे पर स्टेक होल्डर्स की बुधवार को हुई बैठक में भी किसानों ने हंगामा किया।
सूत्रों के अनुसार नेशनल हाई स्पीड रेल कॉर्पोरेशन की ओर से अहमदाबाद-मुंबई बुलेट ट्रेन परियोजना के लिए अधिग्रहित की जाने वाली जमीन के मुआवजे के लिए यहां सर सयाजीराव नगर गृह में स्टेक होल्डर्स की बैठक में पहुंचे वडोदरा, पादरा व करजण तहसीलों के किसानों ने ग्राम सभा ना करने पर हंगामा किया।
सूत्रों के अनुसार किसानों का आरोप था कि नेशनल हाई स्पीड रेल कॉर्पोरेशन की ओर से अहमदाबाद-मुंबई बुलेट ट्रेन परियोजना पूरी करने वाली कंपनी के संचालकों ने बैठक में कहा कि समय-समय पर गांवों में ग्राम सभा करके किसानों को अहमदाबाद-मुंबई बुलेट ट्रेन के बारे में जानकारी दी जा रही है। सूत्रों के अनुसार यह बात सुनकर किसान नाराज हो गए। गांवों में कहीं भी ग्राम सभा आयोजित ना करने की बात कही।
सूत्रों के अनुसार इस कारण बैठक में हंगामा शुरू हुआ। कुछ समय के लिए बैठक रोकनी भी पड़ी। किसानों ने गुजरात-महाराष्ट्र में अहमदाबाद-मुंबई बुलेट ट्रेन जमीन अधिग्रहण से प्रभावित होने वाले किसान परिवारों को नौकरी देने व जंत्री रिवाइज करके ही अहमदाबाद-मुंबई बुलेट ट्रेन जमीन अधिग्रहण करने की मांग की। सूत्रों के अनुसार बैठक में जिला विकास अधिकारी, प्रांत अधिकारी, कंपनी के संचालक व किसान मौजूद थे।
सूत्रों के अनुसार बैठक स्थल पर पुलिस बंदोबस्त भी किया गया। किसानों का आरोप था कि धमकी देकर जमीन हड़पने के लिए पुलिस बंदोबस्त किया गया है। सूत्रों के अनुसार किसानों का यह भी आरोप था कि अहमदाबाद-मुंबई बुलेट ट्रेन परियोजना के लिए आयोजित होने वाली बैठक के बारे में असरग्रस्त किसानों को तलाटी की ओर से सूचना दी जानी थी लेकिन ऐसा ना हुआ। इसके अलावा कंपनी की ओर से गिने-चुने किसानों के साथ बैठक की जाती है।

Rajesh Bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned