सांसदों के साथ रेल अधिकारियों ने किया रेल सुविधाओं पर मंथन

सांसदों के साथ रेल अधिकारियों ने किया रेल सुविधाओं पर मंथन

Pushpendra R.Singh Rajput | Publish: Sep, 07 2018 09:29:06 PM (IST) Ahmedabad, Gujarat, India

ट्रेनों के ठहराव व फेरे बढ़ाने के उठे मुद्दे

अहमदाबाद/राजकोट. पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक ए के गुप्ता ने राजकोट एवं भावनगर मंडल के दायरे में आनेवाले संसदीय क्षेत्रों के सांसदों के साथ बैठक की, जिसमें रेल सुविधाओं को बेहतर बनाने पर मंथन हुआ। सांसदों ने अपने संसदीय क्षेत्रों की रेल समस्याओं को उजागर किया।
महाप्रबंधक गुप्ता ने सांसदों का स्वागत किया। बाद में उन्होंने सांसदों को राजकोट व भावनगर मंडल में नवीनतम रेलयात्री सुविधाओं की जानकारी दी। सांसदों ने अपने इलाकों की रेल समस्याओं, परियोजनाओं, ट्रेनों के ठहराव, नई ट्रेन चलाने, ट्रेनों के विस्तार, ट्रेनों के फेरे बढ़ाने समेत कई मुद्दों पर चर्चा की और सुझाव दिए।
महाप्रबंधक गुप्ता ने सांसदों को आश्वस्त किया कि उनके सुझावों पर उचित कार्रवाई की जाएगी। बैठक में सांसद पूनमबेन माडम, मोहन कुंडारीया, देवजीभाई फतेपरा, विनोद चावडा, डॉ. भारतीबेन डी. शियाल, राजेशभाई चुडासमा, नारणभाई काछडिया ने भाग लिया।
बैठक के दौरान राजकोट के मण्डल रेल प्रबंधक पी. बी. निनावे, भावनगर की मंडल रेल प्रबंधक रुपा श्रीनिवासन सहित मुख्यालय के प्रमुख विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन उप महाप्रबंधक (सामान्य) परीक्षित मोहनपुरिया ने किया।

पश्चिम रेलवे का मुख्यालय बने अहमदाबाद-गांधीनगर
अहमदाबाद. शाहीबाग के सरकिट हाउस में गुरुवार को हुई बैठक में सांसदों अपने अपने-अपने इलाकों के मुद्दे रखे। राज्यसभा सांसद नारण राठवा ने पश्चिम रेलवे का मुख्यालय मुंबई के बजाय गुजरात के अहमदाबाद या गांधीनगर को लाने प्रस्ताव रखा। उन्होंने एक सर्वे और जनता की राय का हवाला देते हुए कहा कि पश्चिम रेलवे का 90 फीसदी रेल ट्रैफिक गुजरात से होकर जाता है। इससे अहमदाबाद या फिर गांधीनगर को पश्चिम रेलवे का मुख्यालय बनाना चाहिए। उन्होंने यह भी दलील दी कि गुजरात को छोड़कर ज्यादातर राज्यों की राजधानियों में जोनल रेलवे के मुख्यालय होता हैंं। इसके अलावा नडियाद-मोडासा ब्रोडगेज लाइन से शामलाजी रोड रेलवे स्टेशन को राजस्थान जोडऩे का प्रस्ताव रखा। उन्होंने छोटा उदेपुर से वापी-भिलाडा, छोटा उदेपुर- पालनपुर, छोटा उदेपुर-सोमनाथ के बीच ट्रेनें चलाने का प्रस्ताव दिया।
पंचमहाल से सांसद प्रभातसिंह चौहाण ने दिल्ली -मुंबई के बीच दौडऩे वाली सभी ट्रेनों का ठहराव गोधरा रेलवे स्टेशन देने का मुद्दा उठाया। उन्होंने गोधरा - शहेरा, लुनावाडा- मोडासा होते हुए लाइन चलाने का प्रस्ताव रखा। उन्होंने खरसीला रेलवे स्टेशन, जो उनका गांव भी है यहां ट्रेनों का स्टॉपेज है, लेकिन यहां प्लेटफार्म नहीं है। इससे लोगों ट्रेनों में चढऩे में दिक्कत होती है। यहां प्लेटफार्म का निर्माण होना चाहिए।
साबरकांठा के सांसद दीपसिंह राठौड़ ने अहमदाबाद-उदयपुर मार्ग पर शीघ्र ट्रेन दौडऩे का मुद्दा उठाया था। उन्होंने बताया कि रेल प्रशासन ने इस मार्ग पर इस वर्ष दिसम्बर तक ट्रेन दौडऩे का विश्वास दिलाया है। इससे हररोज अपडाउन करने वालों को भी आसानी होगी।

Ad Block is Banned