बारिश से जलाशय लबालब, किसान खुश

मानसून की विदाई

By: Gyan Prakash Sharma

Published: 22 Sep 2020, 07:04 PM IST

सिलवासा. मानसून के विदाई समय में हो रही बारिश से जिले के जलाशय, चेकडेम, तालाब आदि सभी पानी से लबालब हो गए हैं। गांवोंं के तालाब पानी से उफन रहे है। किसानों के लिए यह बारिश अमृत से कम नहीं है।


बारिश से वापी मसाट रोड पर ब्रिज निर्माण कार्य से ट्रेफिक समस्या बढ़ गई हैं। औद्योगिक परिक्षेत्रों की सड़कें बदहाल हो गई हैं, वहीं बारिश से जलाशय व तालाबों में पानी का संग्रहण बढ़ा है। गांव का पानी गांव में, खेत का पानी खेत में संचयन के लिए जिला पंचायत ने 150 से अधिक तालाब बनवाए थे, जो मानसून में पानी से लबालब हो गए हैं।


यह तालाब किलवणी रांधा, मोरखल, गलौंडा, खेरड़ी, खानवेल, खुटली, मांदोनी, सिंदोनी, दुधनी, कौंचा में गौचरण व सरकारी जमीन पर खोदे गए हैं। चालू बारिश से 90 प्रतिशत तालाब पानी से लबालब भर गए हैं। तालाब भरने से किसानों को रबी की बुवाई आसान हो गई है। जिला पंचायत अधिकारियों ने बताया कि अगस्त सितम्बर की अच्छी बारिश से कुंओं व भु-पृष्ठ पर मौजूद जल भंडारों से वृद्धि हुई है। गांवों में तालाब निर्माण का मुख्य उद्देश्य वर्षा जल का मिट्टी से रिसकर भू जल का पुनर्भरण करना है। प्रशासन ने तालाब निर्माण के साथ सिंचाई की विभिन्न योजनाएं लागू की हैं। योजनाओं के अंतर्गत खेत तालाब को खोदने के बाद अंदर एक प्लास्टिक की परत लगाई जाती है, जिससे लम्बे समय तक तालाबों में पानी बना रह सकता है। पहाड़ी क्षेत्र कौंचा, दुधनी, खेरड़बारी, बिलदरी, अंबाबारी, मांदोनी, आंबोली, रूदाना, शेल्टी, गोरातपाड, वेलुगाम, डोलारा में भी वर्षा हुई है। किसानों का कहना है कि माह के शुरूआती दिनों की बारिश से खेतों में फसले अच्छी पक रही हैं।

सतमालिया खिल उठा

सितम्बर की बारिश से दपाडा सतमालिया के जानवर खुश हैं। 300 हैक्टर भूभाग पर बने सतमालिया के सभी नदी-नाले व चेकडेम में पानी आ गया है। अभयारण्य में बने तालाब में ऊपरी लेवल तक पानी भर गया है। सतमालिया से गुजरने वाले नालों पर चेकडेम बने है जिसपर पानी का बहाव जारी है। घने वृक्षों के बीच पानी के जलाशय शोभनीय हो गए हैं। जलाशयों में पशु-पक्षियों की किलोल बढ़ गई हैं। अधिकारियों ने बताया कि गर्मी तक सतमालिया में पानी की कमी नहीं रहेगी।

औसत के समीप पहुंचा आंकड़ा

देर से भले मानसून जिले में औसत बारिश के समीप पहुंच गया है। बाढ़ नियंत्रण केन्द्र के अनुसार अब तक सिलवासा में 2289.2 मिमी व खानवेल में 2295.1 मिमी वर्षा रिकॉर्ड की गई है। औसत बरसात से यह आंकड़ा करीब 100 मिमी कम है। पिछले 24 घंटे में सिलवासा में 28.2 मिमी व खानवेल में 18.0 मिमी बरसात हुई है। मधुबन डेम का जलाशय 79.1 मीटा ऊँचाई तक भर गया है।

Gyan Prakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned