विशेष सॉफ्टवेर से ई-टिकट की कालाबाजारी का पर्दाफाश

विशेष सॉफ्टवेर से ई-टिकट की कालाबाजारी का पर्दाफाश

Pushpendra R.Singh Rajput | Publish: Jul, 13 2018 10:48:00 PM (IST) Ahmedabad, Gujarat, India

आरपीएफ (क्राइम ब्रांच) ने जब्त किए 19 लाख से ज्यादा के ई टिकट, 02 गिरफ्तार

अहमदाबाद. रेलवे सुरक्षा बल (क्राइम ब्रांच) ने एक ठिकाने पर दबिश देकर विशेष सॉफ्टवेयर से ई- आरक्षण टिकट निकालकर कालाबाजारी करने का पर्दाफाश किया। इस आरोप में दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया।
आरपीएफ के महानिरीक्षक ए.के. सिंह तथा वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त -अहमदाबाद पी राजमोहन के निर्देशन में बुधवार को रेल ई टिकटों की कालाबाजारी करनेवालों के विरुद्ध आरपीएफ (क्राइम ब्रांच) के निरीक्षक एस . डी. यादव ने उप निरीक्षक बी.के. चौबे, सहायक उप निरीक्षक कल्पेन्द्र सिंह, हेड कांस्टेबल पूरनसिंह, कांस्टेबल मोहसीन खान तथा गौतम सिंह ने रिलीफ रोड पर जकारिया मस्जिद के पास न्यू नोबल टूर्स एंड ट्रावेल्स पर दबिश दी। वहां से ई-टिकट का कारोबार करते 02 व्यक्तियों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार आरोपियों में मोहसीन भाई इलियास भाई मेमन एवं इमरान इलियास भाई मेमन शामिल हैं। इन आरोपियों ने पर्सनल आईडी से रेल ई-टिकटों का अवैध कारोबार करना स्वीकार किया।
आरोपियों से 189040 रुपए के 49 टिकटें तथा 6930 रुपए के पांच अन्य टिकट, 01 सीपीयू, 01 लेपटोप , 01 प्रिन्टर, 01 इन्टरनेट डोंगल व 02 मोबाइल फोन जब्त किया। जांच के दौरान कंप्यूटर व लेपटोप में विशेष सॉफ्टवेर पाया गया, जिससे वे चंद सेंकड में एक साथ कई टिकट बुक कर लेते थे। आरोपियों ने 04 माह में रु 19 लाख 42 हजार 520 रुपए के 704 ई टिकट निकालकर कालाबाजारी करने की बात कबूली। मामले की अग्रिम जांच आरपीएफ थाना अहमदाबाद के निरीक्षक ग्रेसियस फर्नांडीस कर रहे हैं। जांच के दौरान विशेष सॉफ्टवेयर बेचने वाले व्यक्तियों तथा इस कार्य में दोनों आरोपियों के सहयोगियों का पता लगाया जा रहा है।

रेलयात्रियों के मोबाइल चोरी के आरोपी गिरफ्तार
राजकोट. रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) की टीम ने वांकानेर रेलवे स्टेशन से रेलयात्रियों के मोबाइल चोरी करने के दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। राजकोट के मंडल रेल प्रबंधक पी बी निनावे तथा मंडल सुरक्षा आयुक्त मिथुन सोनी ने आरपीएफ जवानों की त्वरित कार्रवाई की सराहना की।
वांकानेर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 2 पर गत शाम वीरमगाम-ओखा फास्ट पैसेंजर ट्रेन पहुंची थी। आरपीएफ के सहायक उप निरीक्षक महाराजसिंह अपनी टीम के हेड कांसट्ेबल मनोज परमार के साथ ट्रेन में गश्त लगा रहे थे। इसी बीच उनको जानकारी मिली कि दो युवक मोबाइल चुराकर भाग रहे हैं। उन्होंने अपनी टीम के साथ भाग रहे युवकों का पीछाकर पकड़ लिया। आरोपियों से आरपीएफ टीम ने मोबाइल बरामद किए। बाद में आरोपियों को वांकानेर थाना लाया गया। गिरफ्तार आरोपियों ने अपने नाम पर मनहर जेठीराम दुधरेजिया (24 वर्ष), सिकंदर रमजान भाई चूड़ेसा (25) हैं, जो चोटीला रोड, थानगढ़ के रहने वाले हैं। आरपीएफ ने कार्रवाई के बाद आरोपियों को जीआरपी-वांकानेर को सौंप दिया।

Ad Block is Banned