गुजरात में एम्स के लिए राजकोट का चयन!

- राज्य ऊर्जा मंत्री सौरभ पटेल ने एक बयान में कहा

By: Uday Kumar Patel

Published: 18 Dec 2018, 09:50 PM IST

अहमदाबाद/गांधीनगर. लंबे समय की मांग के बाद आखिरकार गुजरात में एम्स के लिए राजकोट का चयन किया गया है। कई वर्षों से गुजरात में एम्स स्थापित किए जाने को लेकर चर्चा थी, लेकिन विवाद राजकोट और वडोदरा को लेकर था। इस बीच, राज्य के ऊर्जा मंत्री सौरभ पटेल ने एक बयान में राजकोट को एम्स मिलने की खुशी जाहिर करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व केन्द्र सरकार को धन्यवाद भी दे दिया। हालांकि इसकी कोई औपचारिक घोषणा नहीं हुई। उधर, कांग्रेस व अन्य गुट इसे जसदण में उपचुनाव को देखकर बयानबाजी मान रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक, राज्य चुनाव आयोग ने स्वास्थ्य विभाग से इस संबंध में रिपोर्ट मांगी है।
राज्य ऊर्जा मंत्री सौरभ पटेल उन्होंने मंगलवार को मीडिया से बातचीत में कहा कि राजकोट में एम्स स्थापित होने से पूरे सौराष्ट्र के लोगों को लाभ मिलेगा। इनमें भावनगर, जूनागढ़, अमरेली, जामनगर, पोरबंदर सहित कच्छ का क्षेत्र भी शामिल है। केन्द्र ने कुछ वर्ष पहले गुजरात में एम्स की घोषणा की थी। राज्य सरकार ने इसके लिए राज्य के दो स्थलोंृ-वडोदरा व राजकोट- का चयन किया था। केन्द्र की टीम ने इन दोनों स्थलों का दौरा किया था।

वडोदरा के भाजपा विधायक नाराज!
उधर, वडोदरा में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष जीतू वाघाणी ने भी राजकोट को एम्स मिलने की बात कही। उधर इससे वडोदरा के भाजपा विधायक योगेश पटेल ने राजकोट को एम्स मिलने पर नाराजगी व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि इस संबंंध में केन्द्र व राज्य सरकार के समक्ष गुहार लगाई जाएगी कि एम्स को लेकर फिर से विचार किया जाए और वडोदरा को एम्स का आवंटन किया जाए। विधानसभा के बजट सत्र में भी राज्य में एम्स स्थापित किए जाने को लेकर कई बार चर्चा हो चुकी है। इस दौरान ज्यादातर कांग्रेसी विधायकों ने एम्स को सौराष्ट्र में स्थापित किए जाने वहीं भाजपा के विधायक योगेश पटेल ने इसे वडोदरा में स्थापित करने की बात कही थी।

जून 2014 में केन्द्र ने भेजी थी दरख्वास्त


उल्लेखनीय है कि केन्द्र के स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय ने जून 2014 में राज्य में एम्स आरंभ किए जाने को लेकर उचित स्थल का चयन कर केन्द्र सरकार को दरख्वास्त भेजी थी। इसके बाद राज्य सरकार ने 6 अगस्त 2014 को राजकोट या वडोदरा जिला में एम्स आरंभ करने की दरख्वास्त भेजी थी। तब कांग्रेस के विधायकों ने यह कहा था कि दरख्वास्त को भेजे हुए कई वर्ष बीत चुके हैं, लेकिन अब तक स्थल के चयन का मामला अटका पड़ा है। तब सरकार ने कहा था कि इस पर प्रक्रिया जारी है।

Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned