राज्यसभा चुनाव में बाबरिया व गोहिल हो सकते हैं कांग्रेस प्रत्याशी....??

Rajya sabha election, Gujarat congress, ahmedabad news, MLA, Gujarat news, NCP,

By: Pushpendra Rajput

Published: 07 Mar 2020, 10:02 PM IST

पुष्पेन्द्र सिंह

गांधीनगर. गुजरात की चार राज्यसभा सीटों पर 26 मार्च को मतदान होने हैं। इसके लिए कांग्रेस ने कवायद शुरू कर दी है। राज्यसभा में प्रत्याशी बनाने को लेकर पैनल तैयार किया गया है जिस पर पार्टी विधायकों के अलावा शीर्ष नेताओं से चर्चा की गई। दिल्ली आलाकमान की मुहर लगने के बाद प्रत्याशी की घोषणा की जाएगी। नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि 13 मार्च है।
पार्टी सूत्रों के अनुसार राज्यसभा चुनाव में दो सीटों पर जीत की संभावना को देखते हुए इस बार पार्टी दो प्रत्याशियों को मैदान में उतारेगी। सबसे ज्यादा चर्चा अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता शक्ति सिंह गोहिल को उतारने को लेकर चल रही है। इसके अलावा गुजरात प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष व पूर्व केंद्रीय मंत्री सोलंकी, कांग्रेस महासचिव दीपक बाबरिया, वरिष्ठ नेता बालूभाई पटेल के नामों की भी चर्चा है।
मौजूदा समय में कांग्रेस से राज्यसभा सांसद मधुसूदन मिस्त्री की अवधि पूर्ण होने से उनको फिर से उतारा जा सकता है। हालांकि मिस्त्री के खिलाफ विरोध के सुर भी उठे हैं। उनके स्थान पर किसी और को प्रत्याशी बनाने को लेकर मांग उठ रही है। पिछले दो दिनों पाटीदार, ठाकोर समाज और दलित समाज से भी प्रत्याशी बनाने की मांग उठी थी। दो दिन पूर्व ही गुजरात कांग्रेस के प्रभारी राजीव सातव अहमदाबाद में को-ऑर्डिनेशन कमेटी की बैठक में हिस्सा लेने आए थे। इसमें पार्टी विधायकों के अलावा शीर्ष नेताओं के साथ चर्चा की गई।

ये सीटें हो रही हैं खाली

गुजरात से राज्यसभा की चार सीटों के लिए चुनाव होने हैं। इनमें भाजपा के चुनीभाई गोहेल (जूनागढ़), लालसिंह वडोदिया (आणंद) और शंभूप्रसाद टूंडिया (अहमदाबाद) और कांग्रेस के मधुसूदन मिस्त्री (साबरकांठा) का कार्यकाल आगामी 9 अप्रेल को पूरा हो रहा है। फिलहाल राज्य विधानसभा में कुल 182 विधानसभा सीटें हैं जिनमे दो सीटें रिक्त हैं। इनमें भाजपा के 103 विधायक और कांग्रेस के 73 विधायक हैं। भारतीय ट्रायबल पार्टी (बीटीपी) के दो और नेशनल कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) का एक तथा एक निर्दलीय विधायक हैं।

'कांग्रेस प्रभारी राजीव सातव ने राज्यसभा के प्रत्याशी के लिए पार्टी के विधायकों से एक-एक कर बात की है। जो भी दिल्ली आलाकमान निर्णय लेगा वह सभी को मंजूर है। पार्टी टीम भावना से काम कर रही है।Ó

परेश धानाणी, विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned