देवकिशन को ढूंढऩे के लिए मेडिकल कॉलेजों के विद्यार्थियों की रैली, कलक्टर को ज्ञापन

Rajesh Bhatnagar

Publish: Mar, 14 2018 11:41:07 PM (IST)

Ahmedabad, Gujarat, India
देवकिशन को ढूंढऩे के लिए मेडिकल कॉलेजों के विद्यार्थियों की रैली, कलक्टर को ज्ञापन

सूरत के कामरेज निवासी देवकिशन देवशी आहिर वडोदरा शहर के गोत्री मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस फाइनल इयर में अध्ययनरत

वडोदरा. शहर के गोत्री मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस के विद्यार्थी सूरत के कामरेज क्षेत्र निवासी देवकिशन कातरिया को ढूंढऩे के लिए शहर व जिले के मेडिकल कॉलेजों के विद्यार्थियों ने बुधवार को रैली निकालकर जिला कलक्टर को ज्ञापन दिया।
सूत्रों के अनुसार गोत्री मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस के अंतिम वर्ष में अध्ययनरत देवकिशन पांच दिन पहले पत्र लिखकर गुम हो गया। सूरत से यहां पहुंचे परिवारजन पिछले चार दिन से कॉलेज में प्रबंधन के समक्ष आक्रोश जता रहे हैं। पुत्र की गुमशुदगी का मामला मुख्यमंत्री तक पहुंचने पर जांच के निर्देश दिए गए।
इसके बावजूद पुलिसकर्मी अब तक देवकिशन को नहीं ढूंढ़ पाए। नाराज होकर शहर व जिले के मेडिकल कॉलेजों के विद्यार्थी बुधवार को सयाजी अस्पताल में एकत्रित हुए। गोत्री, बड़ौदा मेडिकल कॉलेज, सावली स्थित होम्योपैथी कॉलेज के विद्यार्थियों ने एसजी अस्पताल से रैली निकाली और जिला कलक्टर कार्यालय पहुंचकर जिला कलक्टर पी. भारथी को ज्ञापन देकर देवकिशन की खोजबीन करने की मांग की।
गौरतलब है कि सूरत के कामरेज निवासी देवकिशन देवशी आहिर वडोदरा शहर के गोत्री मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस फाइनल इयर में अध्ययनरत है। कॉलेज में वायवा में दो विषय में वह अनुत्तीर्ण हो गया। इस कारण पिछले दिनों से तनाव में था। शुक्रवार को परिवारजनों को फोन करके उसने शनिवार को सूरत लौटने की जानकारी दी।
शनिवार को देवकिशन घर नहीं पहुंचा तो परिवारजनों ने दोपहर में करीब एक बजे फोन किया लेकिन जवाब नहीं मिला। शाम चार-पांच बजे पुन: फोन करने पर भी जवाब नहीं मिला। परिवारजनों ने कॉलेज की कैंटीन में फोन करके पूछा तो कमरे में तलाश की गई। वहां एक पत्र, मोबाइल फोन व पर्स मिला। इस पर परिवारजन वडोदरा पहुंचे और गोरवा पुलिस थाने में मामला दर्ज करवाया।
इस बीच, गोत्री मेडिकल कॉलेज के विद्यार्थियों ने भी पुन: लौटने की देवकिशन से अपील की है। कॉलेज के डीन मिनु पटेल के अनुसार टीमें बनाकर सभी स्थानों पर खोजबीन की है। देवकिशन की वापसी के लिए स्टॉफकर्मी भी प्रयत्नशील हैं। इस बीच, जानकारी मिली कि देवकिशन ने पत्र में उसे कथित तौर पर जानबूझकर अनुत्र्तीण करने का गायनेक विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. आशीष शाह पर आरोप लगाया है। उसका यह भी आरोप है कि उत्तीर्ण होने वाले अनुत्तीर्ण और अनुत्तीर्ण होने वाले उत्तीर्ण हो रहे हैं। उसने मम्मी-पापा से माफी मांगते हुए बड़े भाई व बहन से अपील की कि मम्मी-पापा का ध्यान रखें, उसकी याद ना आने दें।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned