गुजरात में भी आसाराम के खिलाफ दुष्कर्म का मामला

-अब तक 29 गवाहों के बयान दर्ज

By: Uday Kumar Patel

Published: 25 Apr 2018, 09:45 PM IST

 

अहमदाबाद. नाबालिग के साथ दुष्कर्म के मामले में जोधपुर की विशेष अदालत ने आसाराम को जीवन पर्यन्त उम्र कैद की सजा सुनाई है वहीं गुजरात में भी आसाराम के खिलाफ दुष्कर्म का मामला लंबित है।
आसाराम के खिलाफ सूरत की दो युवतियों के साथ दुष्कर्म का मामला फिलहाल गुजरात की गांधीनगर की अदालत में जारी है। इस मामले में अब तक 29 गवाहों के बयान दर्ज किए जा चुके हैं।
इस मामले में आसाराम सहित अन्य आरोपियों के खिलाफ आरोप पत्र पेश हो चुके हैं वहीं आरोप भी तय किए जा चुके हैं।
इस मामले में दो युवतियों ने आसाराम पर आरोप लगाया था कि वर्ष 1997 से लेकर 2006 तक अपने आश्रम में दुष्कर्म किया।

हमला प्रकरण में आसाराम फरार

इसके अलावा आसाराम के खिलाफ राजू चांडक पर हमले का भी मामला लंबित है। इस मामले में आरोपियों के खिलाफ आरोपपत्र पेश हो चुका है, लेकिन इसी आरोपपत्र में आसाराम को फरार बताया गया है।

बच्चों की मौत के मामले में दर्ज हो चुका है बयान

इसके अलावा आसाराम से जुड़े मामलों में अहमदाबाद के मोटेरा स्थित आसाराम आश्रम के परिसर में स्थित आसाराम गुरुकुल में अध्ययनरत दो चचेरे भाईयों-दीपेश वाघेला (10) और अभिषेक वाघेला (11) की रहस्यमय मौत के मामले शामिल हैं।
3 जुलाई 2008 को गुरुकुल में पढऩे वाले ये दो बच्चे गुम हो गए थे। दो दिन बाद इन दोनों का शव साबरमती नदी तट के किनारे मिला था। इस मामले में राज्य सरकार की ओर से गठित डी. के. त्रिवेदी आयोग के समक्ष आसाराम का बयान दर्ज किया जा चुका है।

आसाराम के वैद्य रहे प्रजापति पर हुआ था हमला

12 वर्षों तक आसाराम के पूर्व साधक व आसाराम के आयुर्वेद चिकित्सक रहे अमृत प्रजापति पर मई 2014 में राजकोट में जानलेवा हमला किया गया। बाइक पर सवार दो अज्ञात व्यक्तियों ने प्रजापति के क्लीनिक के बाहर उन पर गोली चला दी। इस घटना में गंभीर रूप से घायल प्रजापति की कुछ दिनों बात मौत हो गई थी। प्रजापति ने आसाराम गुरुकुल में पढऩे वाले दो बच्चों की रहस्यमय मौत को लेकर गठित आयोग के समक्ष आसाराम के खिलाफ गवाही दी थी। दुष्कर्म मामले में आसाराम के खिलाफ प्रजापति ने सबसे पहले आवाज उठाई थी। वे दुष्कर्म मामले के अहम गवाह थे। प्रजापति ने यह दावा किया था कि उन्होंने आसाराम को कई बार आपत्तिजनक स्थिति में देखा था।

Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned