दुष्कर्म पीडि़ता बालिका को अस्पताल से छुट्टी

वारदात स्थल पर ले जाकर की जांच, रेंज आई.जी. भी पहुंचे

By: Rajesh Bhatnagar

Published: 25 Apr 2018, 10:54 PM IST

जामनगर. देवभूमि द्वारका जिले में द्वारका के समीप कुरंगा गांव के निकट दुष्कर्म पीडि़ता पौने चार वर्षीया मासूम बालिका को स्थानीय अस्पताल से मंगलवार देर शाम को छुट्टी दे दी गई।
पुलिसकर्मियों ने पीडि़ता व उसकी माता को वारदात स्थल पर ले जाकर जांच की। राजकोट रेंज के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) डी.एन. पटेल, आर.आर. सेल के उप निरीक्षक व टीम भी मंगलवार देर रात को द्वारका पहुंची। देवभूमि द्वारका जिले के पुलिस अधीक्षक (एसपी) रोहन आनंद, जामनगर जिले के एसपी प्रदीप शेजुल, दोनों जिलों की स्थानीय अपराध शाखा (एलसीबी) व पुलिसकर्मियों ने जांच शुरू की है। पीडि़ता के परिवार, माता व उनसे जुड़े लोगों से गहन पूछताछ शुरू की गई है।
गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ के एक गांव से मजदूरी करने आए श्रमिक परिवार के तीन सदस्यों को कंपनी की लेबर कॉलोनी में आश्रय मिला। बालिका के माता-पिता कंपनी में श्रमिक के तौर पर काम करते हैं। परिवार की महिला किसी कारणवश सोमवार को काम पर नहीं गई। निकट में स्थित स्थान पर महिला अपनी पुत्री के साथ शौचक्रिया के लिए गई, वहां बालिका खेल रही थी।
महिला पुन: लौटी तब बालिका को एक अज्ञात व्यक्ति छोड़कर जाते देखा गया। बालिका को जोर-जोर से रोते देख माता ने पूछताछ की। बालिका ने दुष्कर्म की जानकारी दी तो महिला ने पति को बताया। इस दौरान लेबर कॉलोनी में यह बात फैलने पर सनसनी फैल गई। सूचना मिलने पर द्वारका पुलिस थाने के निरीक्षक पी.ए. देकावडिया व स्टॉफकर्मी मौके पर पहुंचे।
वारदात की गंभीरता को देखते हुए जिला पुलिस अधीक्षक (एसपी) रोहन आनंद को सूचित किया गया। उनके निर्देश पर बालिका को चिकित्सकीय परीक्षण के लिए सोमवार रात को जामनगर के जी.जी. अस्पताल लाया गया। जांच के बाद चिकित्सकों ने बालिका से दुष्कर्म की पुष्टि की। एसपी के निर्देश पर बालिका की माता की शिकायत पर थाने में मामला दर्जकर जांच शुरू की गई।
लेबर कॉलोनी में 70 से अधिक लोगों से पूछताछ, एएसपी को जांच
जांच के दौरान पुलिसकर्मियों ने लेबर कॉलोनी में मौजूद करीब 70 से अधिक लोगों से पूछताछ की और सभी के फोटो खींचकर मूल निवास की जानकारी एकत्रित की। एसपी के अनुसार मामले की जांच सहायक पुलिस अधीक्षक (एएसपी) प्रशांत सुम्बे को सौंपी गई। उनके साथ देवभूमि द्वारका जिला पुलिस की स्थानीय अपराध शाखा (एलसीबी) व स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) के कर्मचारी भी जांच में जुटे हैं। आवश्यकता पडऩे पर पुलिस की ओर से डीएनए टेस्ट भी करवाया जाएगा।
17 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ
बालिका को जामनगर के जी.जी. अस्पताल में भर्ती करवाने की सूचना मिलने पर देवभूमि द्वारका व जामनगर जिले में सनसनी फैल गई। बालिका को छोड़कर फरार हुए अज्ञात व्यक्ति को बालिका की माता ने देखा था इसलिए पुलिसकर्मियोंं ने उससे भी पूछताछ की। इसके अलावा 17 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की। जामनगर के एसपी प्रदीप शेजुल ने मंगलवार को जी.जी. अस्पताल पहुंचकर वारदात के बारे में जानकारी ली।

Rajesh Bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned