Gujarat: राज्य की निजी लैबोरेटरी में हो सकेगा रेपिड एन्टीबॉडी टेस्ट

राज्य सरकार का निर्णय...
जिले के मुख्य जिला स्वास्थ्य अधिकारियों और मनपा स्वास्थ्य अधिकारियों को मंजूरी देने का अधिकार

By: Omprakash Sharma

Updated: 08 Oct 2020, 10:09 PM IST

अहमदाबाद. राज्य सरकार ने कोरोना को नियंत्रण करने के उद्देश्य से निजी लैबोरेटरी (प्रयोगशालाओं) में रेपिड एन्टीजन टेस्ट कराने की मंजूरी दे दी है। इसके लिए दरें भी निर्धारित की गई हैं। जिला और महानगरपालिकाओं के स्वास्थ्य अधिकारियों कोमंजूरी देने का अधिकार सौंपा गया है।
राज्य की योग्यता वाली निजी लैबोरेटरी को आरटीपीसीआर टेस्ट करने के लिए मान्यता पहले ही दे दी गई थी। इसके बाद अब निजी लैबोरेटरी को रेपिड एन्टीबॉडी टेस्ट करने के लिए मंजूरी दे दी गई है। राज्य सरकार ने संबंधित जिला और मनपा के स्वास्थ्य अधिकारियों को मंजूरी देने का अधिकार प्रदान किया है। इसके तहत राज्य की सभी योग्यता वाली लैब में यह जांच की जा सकेगी। इस तरह की जांचों के लिए दर भी तय की गई हैं। ईएलएसआईए फॉर एन्टीबॉडी टेस्ट के लिए मरीज लैबोरेटरी में पहुंचता है तो यह जांच 450 रुपए में की जाएगी यदि लैबोरेटरी की ओर से अस्पताल या घर पर सुविधा दी जाती है तो 550 रुपए जांच के लिए जा सकेंगे। इसी तरह से सीएलआईए फॉर एन्टीबॉडी टेस्ट के लिए लैब में पहुंचे मरीज से 500 रुपए और घर या अस्पताल से सेंपल कलेक्ट करने की एवज में 600 रुपए लिए जा सकेंगे। दर्शाए गए चार्ज के अलावा अतिरिक्त चार्ज नहीं लिया जा सकेगा, अन्यथा लैब की मान्यता रद्द भी की जा सकेगी।

इस शर्त पर मंजूरी
राज्य सरकार की ओर से रेपिड एन्टीबॉडी टेस्ट की मंजूरी सशर्त दी जा सकेगी। जिन लैबोरेटरी में एमडी पैथोलॉजिस्ट और एमडी माइक्रोबायोलॉजिस्ट का होना जरूरी है। साथ ही भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) मान्यता प्राप्त ईएलआईसीए या सीएलआईए रेपिड एन्टीबॉडी टेस्ट किट का इस्तेमाल करना जरूरी है। जिसका रिपोर्ट में भी उल्लेख करना होगा। साथ ही अन्य जरूरी संशाधन और मानवबल का होना जरूरी है। इन शर्तों के पालन के बाद ही संबंधित जिला मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी या मनपा के स्वास्थ्य अधिकारियों से मंजूरी की प्रक्रिया पूरी की जा सकेगी।

Omprakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned