राहत : मृत कौओं में मिला एच5एन8 स्ट्रेन मनुष्यों में नहीं फैलता

कलक्टर ने दिया जिला नियंत्रण कक्ष शुरू करने का निर्देश

वडोदरा जिले के 219 पोल्ट्री फार्म में पशुपालन विभाग की 34 टीमें निगरानी में जुटी

By: Rajesh Bhatnagar

Published: 12 Jan 2021, 12:00 AM IST

वडोदरा. जिले की सावली तहसील के वसनपुर गांव में मृत कौओं में एच5एन8 स्टे्रन मिला है लेकिन यह स्ट्रेन पक्षियों से मनुष्यों में नहीं फैलता है। वसनपुर गांव में मृत कौओं में बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद जिला कलक्टर शालिनी अग्रवाल की अध्यक्षता में पशुपालन विभाग के अधिकारियों की सोमवार को हुई बैठक में यह जानकारी दी गई।
बैठक में जिला पशुपालन विभाग के उप निदेशक पी.आर. दर्जी के अनुसार वसनपुर गांव में मृत कौओं में एच5एन8 स्ट्रेन मिला है, राहत की बात है कि यह स्ट्रेन मनुष्यों में नहीं फैलता। इस स्ट्रेन में किसी पोल्ट्री फार्म को बंद करने की आवश्यकता नहीं है और पक्षियों को मारने की आवश्यकता नहीं है।
कलक्टर ने जिले के लोगों को बर्ड फ्लू की जानकारी और शिकायत के लिए जिला नियंत्रण कक्ष शुरू करने का निर्देश दिया। उन्होंने पशुपालन विभाग की ओर से की जा रही कार्रवाई और सतर्कता के लिए उठाए जा रहे कदमों की जानकारी ली। इसके साथ ही बर्ड फ्लू को रोकने के लिए ऐहतियात के तौर पर उठाए जाने वाले कदमों के बारे में भी चर्चा की।

वसनपुर गांव के एक वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में आवागमन पर प्रतिबंध

समीक्षा के दौरान डॉ. दर्जी ने बताया कि जिले के 219 पोल्ट्री फार्म में पशुपालन विभाग के अधिकारियों-विशेषज्ञों की 34 टीमें निगरानी में जुटी हैं, बर्ड फ्लू के शंकास्पद मामलों को ढूंढने के लिए सर्वे किया जा रहा है। वसनपुर गांव के एक वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में आवागमन पर प्रतिबंध लगाया गया है। बैठक में जिला विकास अधिकारी किरण झवेरी, रेंज फॉरेस्ट ऑफिसर निधि दवे, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. उदय टिलावत, पशु रोग अनुसंधान अधिकारी डॉ. एन.ए. परमार, उप पशुपालन निदेशक बी.ए. शाह आदि मौजूद थे।
वढवाणा तालाब में पक्षियों की जांच के लिए पहुंचे पांच पशु चिकित्सक

वडोदरा. जिले के वढवाणा पक्षी तीर्थ-तालाब में पक्षियों की जांच के लिए पशुपालन विभाग के पांच पशु चिकित्सकों की टीम पहुंची है।

वन विभाग के अधिकारी के अनुसार वढवाणा पक्षी तीर्थ-तालाब में देश-विदेश के 133 प्रजातियों के 62,570 पक्षी वर्तमान में मेहमान बनकर मौजूद हैं। बर्ड फ्लू की दहशत के बीच वढवाणा तालाब में और आस-पास के क्षेत्र में मृत पक्षियों की जांच के लिए पांच पशु चिकित्सकों की ओर से निरीक्षण किया जा रहा है। बर्ड फ्लू की जांच के लिए चार-पांच दिन पहले पक्षियों के संबंधित नमूने लेकर जांच के लिए भिजवाए गए हैं।

Rajesh Bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned