जामनगर में भाजपा से इस्तीफों की भरमार

जामनगर महानगरपालिका के चुनाव

By: Rajesh Bhatnagar

Published: 05 Feb 2021, 11:52 PM IST

जामनगर. जामनगर महानगरपालिका के चुनाव में भाजपा की ओर से नए-नियमों के कारण अनेक पूर्व पार्षदों को उम्मीदवार नहीं बनाए जाने के कारण पार्टी से इस्तीफों की भरमार हो गई है।

पूर्व उप महापौर करमुर ‘आप’ में शामिल

भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ता, पांच बार पार्षद रह चुके और पूर्व उप महापौर करमुर ने इस बार उम्मीदवार घोषित नहीं किए जाने के कारण स्वयं और अपने समाज का अपमान मानते हुए गुरुवार रात को भाजपा से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि उनके साथ अन्याय करते हुए पूर्व पार्षद के रिश्तेदार को उम्मीदवार बनाया गया है। इसके बाद शुक्रवार शाम को वे आम आदमी पार्टी ‘आप’ में शामिल हो गए।
वार्ड 3 की पूर्व पार्षद ऊषा कंटारिया, शहर भाजपा के पूर्व अध्यक्ष के पुत्र आशीष कंटारिया ने लोहाणा समाज से अन्याय का आरोप लगाते हुए, वार्ड 7 की पूर्व पार्षद मितल फलदू ने स्वयं की उपेक्षा और मामा गोपाल सोरठिया को उम्मीदवार बनाए जाने के कारण, वार्ड 6 की पूर्व पार्षद ज्योति भारवाडिया ने पति के साथ पार्टी से इस्तीफा दे दिया।
वार्ड 11 से पूर्व पार्षद व स्थायी समिति के पूर्व अध्यक्ष और पूर्व उप महापौर मनसुख खाणधर को उम्मीदवार नहीं बनाने पर पुत्र पुनीत खाणधर और वार्ड 2 की कार्यकर्ता हंसा त्रिवेदी ने उम्मीदवार नहीं बनाने से नाराज होकर भाजपा से इस्तीफा दे दिया। दोनों को कांग्रेस की ओर से प्रत्याशी बनाया गया है।

Rajesh Bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned