CAG report : 18 वर्ष से कम आयु वालों के बनाए 3.69 लाख ड्राइविंग लाइसेंस

RTO, Driving license, CAG report, motor vehicles act, sarthi software: - शैक्षणिक योग्यता के बगैर के बनाए 95 लाइसेंस, कैग रिपोर्ट में हुआ खुलासा

By: Pushpendra Rajput

Published: 30 Sep 2020, 09:03 PM IST

गांधीनगर, मोटर वाहन अधिनियम (motor vehicles act) के हिसाब से 18 वर्ष से कम आयु वाले सार्वजनिक स्थानों (public places) पर वाहन नहीं चला सकते। यदि वाहन (vehicles) 50 घन सेन्टीमीटर (सीसी) से ज्यादा नहीं हो, लेकिन गुजरात के क्षेत्रीय परिवहन कार्यालयों (RTO) ने 18 वर्ष से कम आयु के 3,69,260 लोगों के ड्राइविंग लाइसेंस (driving licences) बना दिए हैं, जो बगैर गीयर वाली मोटरसाइकिल (motor cycles) के थे। महा लेखा नियंत्रक (CAG) की रिपोर्ट ेमें यह खुलासा हुआ है।

रिपोर्ट में यह भी खुलासा किया गया है कि मोटरवाहन अधिनियम के प्रावधानों के अनुरूप 16 से 18 वर्ष की आयुवालों को 50 सीसी से ज्यादा क्षमता वाले इंजन वाली मोटरसाइकिल के ड्राइविंग लाइसेंस नहीं जारी किए जा सकते हैं, लेकिन कैग ने वाहन डाटाबेज के हिसाब से खुलासा किया कि आरटीओ कार्यालयों ने बगैर गीयर की मोटरसाइकिल के 3,69,260 लाइसेंस जारी कर दिए। इन द्विचक्री वाहनों के इंजन की क्षमता कम से कम 59.9 सीसी थी। इस तरीके से यह खुलासा हुआ कि 16 से 18 वर्ष की आयु वाले ड्राइविंग लाइसेंस 50 सीसी से ज्यादा क्षमता वाले इंजन वाले द्विचक्री वाहन थे। जो मोटर वाहन अधिनियम के विरुद्ध थे। वहीं आरटीओ या सहायक आरटीओ के स्वयंचालित ड्राइविंग ट्रेक में ड्राइविंग की परीक्षा देतेसमय 16 से 18 वर्ष के आयु वाले सिर्फ 50 सीसी तक इंजन की क्षमता वाले द्विचक्री वाहनों का उपयोग कर सकें। यह सुनिश्चित करने के लिए कोई वहां कोई प्रणाली ही नहीं थी।
रिपोर्ट में यह भी बताया कि न्यूनतम योग्यता कक्षा आठ नहीं होने के बावजूद भी 96 लाइसेंस जारी कर दिए गए। वहीं ५0.47 करोड़ रुपए की राशि में से 1.०७ लाख रुपए की रसीदें कार्यालय समय नहीं जारी की गईं।

कैग रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि सारथी 4.0 सॉफ्टवेयर लाइसेंस के लिए स्वयंचालित ड्राइविंग लाइसेंस एवं स्मार्ट कार्ड 1350 रुपए फीस लेकर जारी किए जाते हैं। यदि आवेदक लर्निंग लाइसेंस की टेस्ट में सफल नहीं होता तो उसे फिर से आवेदन करना होता है। ऐसे में उसे फिर से शुल्क जमा कराना होता है। इस तरीके से देखा जाए तो हर बार आवेदन के समय 4०0 रुपए अतिरिक्त राशि वसूलना प्रावधान के अनुरूप नहीं है।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned