किसी भी घटना के लिए सिर्फ विपक्ष ही जिम्मेवार नहीं: वंश

किसी भी घटना के लिए सिर्फ विपक्ष ही जिम्मेवार नहीं: वंश

Uday Kumar Patel | Publish: Mar, 15 2018 12:36:17 AM (IST) Ahmedabad, Gujarat, India

सदन की गरिमा को नुकसान पहुंचा: चुडास्मा


गांधीनगर. कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक पूंजा वंश ने लोकतंत्र के मंदिर में घटी इस घटना को काफी दु:खद बताया। उन्होंने कहा कि इस घटना की जितनी निंदा की जाए, उतनी कम है।
गिर सोमनाथ जिले की ऊना सीट से विधायक वंश ने कहा कि ताली एक हाथ से नहीं बजती है। ताली बजाने के लिए दोनों हाथ की जरूरत होती है। किसी भी घटना के पीछे के कारण सिर्फ विपक्ष ही जिम्मेवार नहीं होता, बल्कि सत्ता पक्ष भी जिम्मेदार होता है। एक्शन के पीछे रिएक्शन भी होता है। आरोप व प्रत्यारोप लगते रहते हैं। कोई भी व्यक्ति एक्शन में आते हैं तो उसका रिएक्शन भी होता है। ऐसी बात पहले भी कई नेता कह चुके हैं।
उन्होंने कहा कि वे खुद 1990 से इस सदन के सदस्य रहे हैं। भूतकाल में ऐसी घटना घट चुकी है। जब मुख्यमंत्री चिमनभाई पटेल नर्मदा संबंधी बयान दे रहे थे, तब इस दौरान वकतव्य के दौरान भाजपा के ही विपक्ष के विधायक उनकी सीट तक पहुंंच और उनके हाथ से कागज छीना और कागज फाड़ दिया।
यह घटना काफी दु:खद है। जो घटना घटी है उसके लिए सिर्फ विपक्ष के नेता ही जिम्मेदार नहीं है बल्कि भाजपा के सदस्य भी जिम्मेदार हैं। प्रजा के वोट से चुने गए प्रतिनिधि की ओर से घटी यह घटना काफी दु:खद है। इसलिए कांग्रेस के साथ-साथ भाजपा के विधायकों के खिलाफ भी कार्रवाई करनी चाहिए और उन्हें सिर्फ इस सत्र के लिए निलंबित करना चाहिए।

सदन की गरिमा को नुकसान पहुंचा: चुडास्मा
गांधीनगर.संसदीय मंत्री भूपेन्द्र सिंह चुडास्मा ने कहा कि इस इस घटना से सदन की गरिमा को नुकसान पहुंचा। लाखों कार्यकर्ता जिंदगी खपा देते हैं, लेकिन कुछ ही लोगों को सदन में प्रवेश मिलता है।
सिर्फ तीन-चार सदस्यों के कारण विधानसभा के सभी सदस्य बदनाम होते हैं। वे कांग्रेस से अपील करते हैं कि इस तरह का व्यवहार नहीं चलेगा। इस घटना से ऐसा लगा जैसे गांव के बाजार का कोई दृश्य देख रहे हों। इस घटना से संबंधित विधायक की बदनामी होगी, उनकी पार्टी की बदनामी होगी व साथ ही संबंधित क्षेत्र भी बदनाम होगा। इस घटना को पूरे समाज ने देखा है। भविष्य में ऐसी घटना नहीं घटे, इसके लिए पार्टी के उपनेता के प्रस्ताव को मान्य रखा जाना चाहिए। इस घटना को पूरे समाज ने देखा है।

S
Ad Block is Banned