'सौराष्ट्र के टूरिज्म सर्किट से जोड़कर जूनागढ़ को पर्यटन विकास का बनाना है हब'

saurashtra, tourism, circuit, development, hub, Gandhinagar news,: उपरकोट किले का जायजा लिया मुख्यमंत्री ने

By: Pushpendra Rajput

Updated: 21 Jul 2021, 10:47 PM IST

गांधीनगर/जूनागढ़. मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने जूनागढ़ की ऐतिहासिक विरासत माने जाने वाले पौराणिक उपरकोट किले का जायजा लेने के बाद गुजरात पर्यटन विकास निगम की ओर से 45.91 करोड रुपए की लागत से हो रहे संरक्षण और पुर्नस्थापना प्रोजेक्ट का निरीक्षण किया।
मुख्यमंत्री ने उपरकोट में मुख्य प्रवेश द्वार, नीलमतोप, राणकमहल, अडीकडी वाव, अनाज कोठा, बारूदखाना, साइकिल ट्रेक और ढाई किलोमीटर किले के पुर्नस्थापन के कार्यों का भी निरीक्षण किया।

मुख्यमंत्री रुपाणी के साथ-साथ मत्स्योद्योग मंत्री जवाहरभाई चावडा भी उपस्थित थे। उन्होंने प्रोजेक्ट पूर्ण होने के बाद राज्य सरकार के पर्यटन उद्योग के विकास और सैलानियों की सुविधाएं समेत जानकारी दी।
उपरकोट में ऐसे कई अवशेष और स्मारक हैं जो अब तक मिट्टी में दबे थे। ये लोगों को देखने को नहीं मिलते थे। अब राज्य सरकार की पहल से सैलानी और अध्ययन करनेवाले यहां नजर आएंगे। मुख्यमंत्री ने सभी स्मारकों की जानकारी हासिल कर लोगों को विस्तृत जानकारी हासिल की। साथ ही उन्होंने कई अहम मार्गदर्शन भी दिया।

मुख्यमंत्री रुपाणी ने कहा कि जूनागढ़ पर्यटन और तीर्थस्थलों का धाम है। राज्य सरकार ने गिरनार क्षेत्र में पर्यटन स्थलों का विकास करने के बाद मकबरा और उपरकोट का विकास कर रही है। उपरकोट जैसा था वैसे ही पुरातत्वीय ढांचा बनाए रखने के लिए उसे पुन:स्थापित किया जा रहा है। जूनागढ़ समेत सौराष्ट्र के टूरिज्म विकास और सर्किट को जोड़कर विकास कार्य किए जा रहे हैं। सैलानियों के लिए सुविधाएं विकसित करने के लिए राज्य सरकार कटिबद्ध है।
इस मौके पर पर्यटन निगम के प्रबंध निदेशक जेनू देवन, जूनागढ़ महानगरपालिका के महापौर धीरूभाई गोहेल, कलक्टर रचित राज समेत कई गणमान्य मौजूद थे।

Show More
Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned