डीटूडी इंजीनियरिंग कोर्स में प्रवेश से पहले ही 33 हजार सीटें खाली

44 हजार सीटों के लिए 10943 विद्यार्थियों की मेरिट जारी, 16 हजार विद्यार्थियों ने किया था आवेदन

By: MOHIT SHARMA

Published: 26 Jul 2021, 11:07 PM IST

अहमदाबाद. डिग्री इंजीनियरिंग कॉलेजों में उपलब्ध डीटूडी कोर्स (डिप्लोमा इंजीनियरिंग धारकों के लिए डिग्री इंजीनियरिंग में आरक्षित सीट) की सीटों पर प्रवेश आवंटित करने से पहले मेरिट जारी होने के स्तर पर ही 33 हजार से ज्यादा सीटें रिक्त रह गई हैं।
ये स्थिति इसलिए है क्योंकि राज्य के 128 सरकारी, अनुदानित और निजी इंजीनियरिंग कॉलेजों मेें डीटूडी इंजीनियरिंग कोर्स के लिए 44274 सीटें इस वर्ष प्रवेश के लिए उपलब्ध हैं। इसमें निजी 109 कॉलेजों की 39 हजार 617 सीट जबकि सरकारी और अनुदानित 19 कॉलेजों की 4657 सीटें शामिल हैं। यूं तो इस शैक्षणिक वर्ष 2021-22 के लिए कुल 6257 सीटें ही उपलब्ध हैं लेकिन अन्य वर्षों में इस कोर्स में रिक्त रहीं 38 हजार 17 सीटों को भी प्रवेश प्रक्रिया में शामिल किया गया है। इस कारण संख्या 44 हजार से ज्यादा है।
एसीपीसी के अनुसार इस कोर्स में प्रवेश के लिए इस वर्ष 16063 विद्यार्थियों ने रजिस्ट्रेशन कराकर फीस भरी थी। इसमें से 10943 विद्यार्थियों को ही मेरिट लिस्ट में जगह मिली है। जिससे डीटूडी में मेरिट जारी होने के बाद ही 33331 सीटें रिक्त रह गई हैं।
एसीपीसी के अनुसार इसी के साथ प्रवेश प्रक्रिया के मॉक राउंड की भी शुरूआत हो गई है। इस राउंड के तहत 26 से 29 जुलाई के दौरान चॉइस फिलिंग की जा सकेगी। इस मॉक राउंड की प्रक्रिया का परिणाम दो अगस्त को जारी किया जाएगा। मॉक राउंडविद्यार्थियों को निर्णायक प्रवेश प्रक्रिया के बारे में सही जानकारी देने के लिए किया जाता है।
डीटूडी इंजीनियरिंग कोर्स के संयोजक पार्थ रावल ने बताया कि स्थिति बीते वर्ष जितनी ही है। बीते वर्ष 16248 ने आवेदन किया था मेरिट लिस्ट में 11240 को स्थान मिला था। बीते वर्ष 39400 सीटें उपलब्ध थीं। जिससे बीते वर्ष भी मेरिट स्तर पर करीब 28 हजार सीटें रिक्त रहीं थीं। इस वर्ष यह संख्या थोड़ी ज्यादा है। इस वर्ष मेरिट में 10943 विद्यार्थी शामिल हुए हैं। 5120 विद्यार्थी ऐसे हैं जो रिपीटर विद्यार्थी हैं उनका परिणाम नहीं आया है। इसमें से भी 400 ने तो दो बार रजिस्ट्रेशन किया है जिससे इन्हें मेरिट में शामिल नहीं किया गया है। दूसरे राउंड में इन्हें भी मौका मिलेगा।

सभी ब्रांच में आवेदन कर सकते हैं विद्यार्थी
एसीपीसी सदस्य सचिव के अनुसार एआईसीटीई की ओर से वर्ष 2020 में जारी मार्गदर्शिका के अनुसार डिप्लोमा इंजीनियरिंग धारक विद्यार्थी डीटूडी कोर्स के तहत डिग्री इंजीनियरिंग करने के लिए किसी भी ब्रांच में प्रवेश पा सकता है। इस निर्देश के तहत विद्यार्थी उपलब्ध सभी ब्रांचों में आवेदन कर सकते हैं।

क्या है डीटूडी इंजीनियरिंग कोर्स
डीटूडी इंजीनियरिंग कोर्स यानि डिप्लोमा इंजीनियरिंग (डीई) करने वाले विद्यार्थी डिग्री इंजीनियरिंग (बीई) कर सकें उसके लिए यह कोर्स है। इसमें बीई कोर्स में उपलब्ध सीटों में से 10 प्रतिशत सीटें डीई धारकों के लिए आरक्षित रहती हैं। इस कोर्स के तहत बीई के सीधे तृतीय सेमेस्टर यानि द्वितीय वर्ष में विद्यार्थी को प्रवेश दिया जाता है।

MOHIT SHARMA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned