हार्दिक पटेल को झटका, नहीं लड़ सकेंगे लोकसभा चुनाव

-गुजरात हाई कोर्ट ने हार्दिक की याचिका खारिज की

-विधायक कार्यालय तोडफोड़-आगजनी प्रकरण में दोषी ठहराए जाने को स्थगित करने की लगाई थी गुहार

By: Uday Kumar Patel

Updated: 29 Mar 2019, 07:13 PM IST

अहमदाबाद. पाटीदार नेता हार्दिक पटेल के लोकसभा चुनाव लडऩे की आशा पर फिलहाल पानी फिर चुका है। गुजरात उच्च न्यायालय ने लोकसभा चुनाव लडऩे के लिए पाटीदार नेता से बने कांग्रेस नेता हार्दिक की ओर से विधायक कार्यालय तोडफ़ोड़-आगजनी प्रकरण में दोषी ठहराए जाने पर रोक की याचिका खारिज कर दी।

राज्य में लोकसभा चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया आरंभ हो चुकी है और आगामी 4 अप्रेल नामांकन की अंतिम तारीख है। ऐसे में अब हार्दिक के पास गुजरात उच्च न्यायालय के फैसले को चुनौती देने के लिए कुछ ही दिन बचे हैं। गत 12 मार्च को कांग्रेस से जुडऩे के बाद हार्दिक ने जामनगर लोकसभा सीट से चुनाव लडऩे की इच्छा जताई थी।


न्यायाधीश ए जी उरेजी ने शुक्रवार को सुनाए गए फैसले में राज्य सरकार की ओर से दी गई दलीलों को ध्यान में रखते हुए यह फैसला दिया।
न्यायाधीश उरेजी ने अपने फैसले में कहा कि सिर्फ अपवाद मामले में ही दोषी ठहराए जाने पर रोक लगाई जा सकती है और हार्दिक का यह मामला उस कैटगरी में नहीं आता है। राज्य सरकार की ओर से दी गई दलीलों का हवाला देते हुए न्यायालय ने कहा कि हार्दिक के खिलाफ 17 प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। न्यायालय ने यह भी पाया कि हार्दिक के आपराधिक पृष्ठभूमि को देखते हुए कोई राहत नहीं दी जा सकती।
इससे पहले न्यायालय ने गुरुवार को याचिकाकर्ता हाॢदक पटेल और राज्य सरकार की ओर से दलीलों को सुनकर फैसला सुरक्षित रखा था।

Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned