ट्रेन में ज्यादा सामान ले जाने पर लगेगा छह गुना जुर्माना

यदि आप ट्रेन सफर में निर्धारित वजन से ज्यादा सामान ले जाते पकड़े गए तो अब छह गुना जुर्माना वसूलेगा। इसके लिए रेल प्रशासन शुक्रवार से...

By: मुकेश शर्मा

Published: 07 Jun 2018, 05:08 AM IST

अहमदाबाद।यदि आप ट्रेन सफर में निर्धारित वजन से ज्यादा सामान ले जाते पकड़े गए तो अब छह गुना जुर्माना वसूलेगा। इसके लिए रेल प्रशासन शुक्रवार से विशेष अभियान चलाएगा, जो 22 जून तक चलेगा। विशेष तौर पर उन यात्रियों के खिलाफ यह अभियान होगा, जो ट्रेनों के आरक्षित कोच में अधिक सामान ले जाते हैं।

अभियान से पहले रेलवे ने यात्रियों को ट्रेनों में सामान ले जाने की निर्धारित सीमा को लेकर जागरूक किया है। साथ ही उनके अधिक या बगैर बुक सामान के नियमों को लेकर जानकारी देना भी प्रारम्भ किया है। हर यात्री को ट्रेनों के कोचों में एक निश्चित सीमा में ही नि:शुल्क सामान ले जाने की अनुमति है। स्लीपर और वातानुकूलित श्रेणियों में नि:शुल्क सामान ले जाने की अलग-अलग सीमाएं हैं।

प्रत्येक श्रेणी के कोचों में सामान ले जाने की एक अधिकतम सीमा है। नि:शुल्क सीमा से अधिक सामान यात्री बुक कराकर अपने साथ ले जा सकते हैं। अधिकतम सीमा से अधिक सामान होने पर यात्रियों सामान दर का 1.5 गुना भुगतान करना होगा। यात्रा के दौरान जाच के दौरान यदि यात्री से नि:शुल्क सीमा से अधिक सामान पाया जाता है तो अतिरिक्त सामान के एवज में 6 गुना अधिक दर पर अथवा न्यूनतम 50 रु. देय जुर्माना वसूला जाएगा।

नि:शुल्क सीमा से अधिक सामान यात्री एडवांस में बुक करा सकते हैं तथा जिसे ट्रेन के ब्रेकवैन में लिया जाएगा। रेलवे ने यात्रियों से अनुरोध किया है कि यदि उनके पास अधिक सामान है, तो उसे सामान कार्यालय में निर्धारित शुल्क का भुगतान कर बुक कराएं।

श्रेणी नि:शुल्क सीमा मार्जिनल छूट सशुल्क अधिकतम सीमा


एसी प्रथम श्रेणी 70 किग्रा 15 किग्रा 150 किग्रा
एसी 2 टियर/प्रथम 50 किग्रा 10 किग्रा 100 किग्रा
एसी 3 टियर//एसी चेयर 40 किग्रा 10 किग्रा 40 किग्रा
शयनयान श्रेणी 40 किग्रा 10 किग्रा 80 किग्रा
द्वितीय श्रेणी 35 किग्रा 10 किग्रा 70 किग्रा

मैं बूंद-बूंद को तरस रही हूं... अहमदाबाद. एक तस्वीर सैंकड़ों शब्दों को बयां कर जाती है। इसलिए जनता को जागरूक करने के लिए अहमदाबाद-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस के दस कोचों की वॉश बेसिन में एसी लगाई गई है जिसमें नल के नीचे जहां से पानी गिरता है वहां एक बालिका को पात्र लेकर दिखाया गया है। यह तस्वीर उन लोगों को जागरूक करेगी जो ट्रेन में ब्रश करते वक्त या हाथ धोने के बाद नल खुला छोड़ देते हैं। थ्रीडी तस्वीर में ऊपर ताकती यह यह बालिका यह मैसेज देना चाहती है कि आप तो फिजूल पानी बहा रहे हो और मैं बूंद-बूंद को तरस रही हूं।

 

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned