scriptsewers-septik tanks, death, safai workers, Gujarat, India, 10101 | Deaths: 321 सफाईकर्मियों ने पांच साल में गंवा दी जान 10101 | Patrika News

Deaths: 321 सफाईकर्मियों ने पांच साल में गंवा दी जान 10101

sewers-septik tanks, death, safai workers, Gujarat, India, 10101

अहमदाबाद

Published: January 05, 2022 07:26:27 pm

उदय पटेल

अहमदाबाद. देश भर में शहरी निकायों में सीवरों और सेप्टिक टैंकों की सफाई के दौरान बीते पांच वर्षों में 321 सफाई कर्मचारियों ने जान गंवाई है। यह संख्या 2017 से 2021 के दौरान दर्ज की गई है। सांसद भागीरथ चौधरी की ओर से पूछे गए सवाल के जवाब में केन्द्रीय सामाजिक व अधिकारिता मंत्री रामदास आठवले की ओर से यह जानकारी दी गई। इनमें सबसे ज्यादा 51 मौत उत्तर प्रदेश में हुई। हालांकि पिछले 2 वर्ष में यहां कोई मौत नहीं दर्ज की गई। दक्षिणी राज्य तमिलनाडु 43 मौतों के साथ दूसरे स्थान पर है जबकि दिल्ली में 42 सफाईकर्मियों की मौत हो चुकी है। यह स्थिति तब है जब सरकार ने सीवरों में मैनुअल सफाई बंद करने के लिए ठोस नीति बनाई है लेकिन इसके अमलीकरण के अभाव में मौतें होती हैं। ऐसा तब है जब देश में हाथ से मैला उठाने वाले कर्मियों के रूप में नियोजन का प्रतिषेध और उनका पुनर्वास नियमावली 2013 लागू है।
Deaths: 321 सफाईकर्मियों ने पांच साल में गंवा दी जान 10101
Deaths: 321 सफाईकर्मियों ने पांच साल में गंवा दी जान 10101
मौत के पीछे क्या हैं कारण

विशेषज्ञ बताते हैं कि प्रशासन सीवर सफाई में लगे लोगों को आधुनिक उपकरण, मशीन वाहनों की खरीद के लिए रियायती ऋण प्रदान किया जाता है, लेकिन इसका ठोस अमलीकरण नहीं हो पाता। इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट के कई बार दिए गए दिशानिर्देशों का भी अमल नहीं किया जा रहा है।
एनसीआरबी में डाटा उपलब्ध नहीं

एनसीआरबी में इस संदर्भ में अब डाटा उपलब्ध नहीं कराया जाता। इसे विशेष व स्थानीय कानून के तहत शामिल किया जाता है। हाथ से मैला उठाने वाले कर्मियों के रूप में नियोजन का प्रतिषेध और पुनर्वास अधिनियम, 2013 के तहत यह डाटा वर्ष 2017,2018 में नहीं उपलब्ध कराया गया।
सरकार के पास विशेष योजना नहीं
सफाई कर्मचारियों के पास पर्याप्त सुरक्षा उपकरणों को लेकर सरकार के पास कोई योजना भी नहीं है। सरकार इन कर्मचारियों को लेकर संवेदनशील नहीं है और न ही इनके काम का कोई सम्मान है। इन कर्मचारियों से ऐसे जोखिम भरे काम नहीं कराने चाहिए।
- पुरुषोत्तम वाघेला, निदेशक, मानव गरिमा
वर्ष मौतों की संख्या
2017 93
2018 70
2019 117
2020 19
2021 22

राज्य वार सफाईकर्मियों की मौत
राज्य मौतें (2017-2021 के दौरान)
उत्तर प्रदेश 51
तमिलनाडु 43
दिल्ली 42
हरियाणा 33
महाराष्ट्र 30
गुजरात 28
कर्नाटक 26
पंजाब 16
राजस्थान 13
पश्चिम बंगाल 13
आंध्र प्रदेश 13
(स्त्रोत : लोकसभा में उपलब्ध कराए गए आंकड़े)

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.