scriptShocking disclosure of crime branch in Rajkot education scam | Gujarat News : राजकोट के शिक्षा घोटाले में क्राइम ब्रांच का हैरतअंगेज खुलासा | Patrika News

Gujarat News : राजकोट के शिक्षा घोटाले में क्राइम ब्रांच का हैरतअंगेज खुलासा

  • 54 विद्यालयों के 8500 विद्यार्थी पास, 250 नौकरी लेने में सफल
  • फर्जी मान्यता के स्कूल, पांच आरोपी गिरफ्तार

अहमदाबाद

Updated: May 22, 2022 11:08:30 pm

राजकोट. शिक्षा क्षेत्र में देश के बड़े घोटालों में से एक फर्जी स्कूल घोटाले में जांच कर रही राजकोट क्राइम ब्रांच की टीम रोज नए-नए खुलासे कर रही है। राजकोट, अमरेली, दिल्ली, जामनगर समेत अन्य शहरों में रहने वाले आरोपियों ने बोर्ड ऑफ हायर सेकेंडरी एज्युकेशन दिल्ली के नाम से फर्जी ट्रस्ट बनाकर इसके जरिए जसदण, अमरेली, राजकोट समेत देश के 14 राज्यों के 49 शहरों के 54 स्कूलों को मान्यता दी थी। वर्ष 2010-11 से शुरू हुए घोटाले में अब तक 8500 से अधिक विद्यार्थी पढ़ाई कर चुके हैं। वहीं इनमें से 250 से अधिक विद्यार्थियों को नौकरी भी मिल चुकी है। क्राइम ब्रांच के इस खुलासे से शिक्षा जगत में हड़कंप मच गया है।
Gujarat News : राजकोट के शिक्षा घोटाले में क्राइम ब्रांच का हैरतअंगेज खुलासा
Gujarat News : राजकोट के शिक्षा घोटाले में क्राइम ब्रांच का हैरतअंगेज खुलासा

राजकोट क्राइम ब्रांच के पुलिस उपायुक्त डॉ पार्थराजसिंह गोहिल, पीआई जे वी धोला और वाई बी जाडेजा ने बताया कि 9 मई को राजकोट के नानामवा रोड स्थित एसईआईटी एजुकेशन के कार्यालय से जयंती सुदाणी सरकार से बिना किसी मान्यता प्राप्त किए विद्यार्थियों को कोर्स कराए बगैर अलग-अलग फर्जी प्रमाण पत्र देता था। आरोपी को गिरफ्तार कर पूछताछ की गई तो कई अन्य मामलों का खुलासा हुआ। आरोपी जयंती ने अमरेली के केतन जोशी, दिल्ली के तनुजासिंह, जामनगर के जितेन्द्र पीठडिया, राजकोट के पारस लाखाणी और कोरोना से जान गंवाने वाले अशोक लाखाणी के साथ मिलकर बोर्ड ऑफ हायर सेकेंडरी एज्युकेशन दिल्ली नामक फर्जी ट्रस्ट बनाया था। इस ट्रस्ट के जरिए 54 स्कूलों को मान्यता दी गई।

हर विद्यार्थी से लेते थे फीस के 16 हजार
इस बोर्ड को अवैध ठहराए जाने के बाद भी आरोपियों ने वर्ष 2010-11 से 2019-20 तक जसदण, अमरेली, राजकोट समेत 54 स्कूलों को मान्यता दी। प्रत्येक विद्यार्थी से 16000 रुपए फीस लेते थे। बाद में बोर्ड का काम राजकोट के खोडियारपरा में अशोक लाखाणी के स्कूल से होता था। अशोक की मौत के बाद उसके पुत्र ने पूरा काम संभाल लिया था। स्कूल भवन नगर नियोजन के अधिग्रहण क्षेत्र में जाने की वजह से बोर्ड का कार्यस्थल बदलने की जरूरत पड़ी। सभी ने मिलकर 17 लाख रुपए में केतन जोशी को बोर्ड बेचने का निर्णय किया। इसके पहले केतन, जयंती, परेश आदि आरोपियों ने गुजरात में अहमदाबाद, करजण, राजकोट, जसदण, वडोदरा, अमरेली के अलावा देश के अलग-अलग शहरों में फर्जी ट्रस्ट के जरिए स्कूलों को मान्यता प्रदान कर दी थी। मामले में क्राइम ब्रांच ने पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। राजकोट के परेश व्यास की तलाश की जा रही है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

शिमला में सेवाओं की पहली 'गारंटी' देने पहुंचेगी AAP, भगवंत मान और मनीष सिसोदिया कल हिमाचल प्रदेश के दौरे परममता बनर्जी के ट्विटर प्रोफाइल में गायब जवाहर लाल नेहरू की तस्वीर, बरसी कांग्रेसमुंबई पुलिस की बड़ी कार्रवाई, गुजरात के भरूच में पकड़ी ‘नशे’ की फैक्ट्री, 1026 करोड़ के ड्रग्स के साथ 7 गिरफ्तारभूस्खलन से हिमाचल में 100 से अधिक सड़कें ठप, चार दिन भारी बारिश का अलर्टबिहारः मंत्रियों में विभागों का बंटवारा, गृह मंत्रालय नीतीश के पास, तेजस्वी के पास 4 विभाग, तेज प्रताप का घटा कद, देखें ListVideo मध्यप्रदेश में बाढ़ के हालात, सात जिलों में राहत-बचाव का काम शुरू, लोगों को घरों से निकालाMaharashtra: खाने को लेकर कैटरिंग मैनेजर पर भड़के शिवसेना MLA संतोष बांगर, कर्मचारी को जड़ दिए थप्पड़कश्मीरी पंडित की हत्या मामले में सामने आई मनोज सिन्हा, महबूबा मुफ्ती व उमर अब्दुल्ला की प्रतिक्रिया, जानिए क्या कहा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.