विशेष सॉफ्टवेयर से रेल आरक्षण टिकट निकालने का आरपीएफ ने किया पर्दाफाश

Software, railway tickets, blackmailing, RPF, racket busted, seized: आरक्षण टिकटों की कालाबाजारी करने वालों पर कसा शिकंजा, आरपीएफ ने चलाया विशेष अभियान

By: Pushpendra Rajput

Published: 16 Oct 2020, 07:30 PM IST

गांधीनगर. रेलवे सुरक्षा बल (RPF) ने विशेष सॉफ्टवेयर (special software) के जरिए रेल आरक्षण टिकट (railway reservation tickets) निकालने का पर्दाफाश किया है। वहीं रेल आरक्षण टिकटों की कालाबाजारी (blackmailing racket) करने वालों पर शिकंजा कसा है। पश्चिम रेलवे ( western railway) के आरपीएफ ने इस वर्ष जुलाई से सितम्बर अलग-अलग रेलवे डिविजन (railway division) में 298 मामलों में ई-टिकटों (E-tickets) और यात्रा-आरक्षण टिकटों समेत 87.55 लाख रुपए की 5547 अवैध टिकटें जब्त की। इन मामलों में 315 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया। वहीं अहमदाबाद रेल मंडल में मार्च से 15 अगस्त तक 141 मामले सामने आए हैं, जिसमें 155 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी सुमित ठाकुर के अनुसार पिछले साल जुलाई से सितम्बर तक इसी अवधि में पकड़े गए 146 मामलों में ई-टिकटों सहित 50.16 लाख रु. मूल्य के 2099 टिकट जब्त किए गए थे और 171 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया था। पिछले साल की तुलना में इस साल पकड़े गये मामलों की संख्या दुगुनी से भी अधिक हो गई है।

विशेष सॉफ्टवेयर से आरोपी निकालते थे ई-टिकटें

वहीं गिरफ्तार व्यक्तियों और जब्त टिकटों की संख्या तथा ई-टिकटों के मूल्य में भी उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। विशेष अभियानों के दौरान यह देखा गया कि विशेष सॉफ्टवेयर के उपयोग से ई-टिकटों की बुकिंग में गड़बड़ी की गई थी। ये सभी विशेष अभियान जुलाई से सितम्बर तक की अवधि के लिए चलाए गए।
दलालों की ओर से टिकटों की अवैध बुकिंग की सूचना मिलने के बाद, डिटेक्टिव विंग - आरपीएफ क्राइम ब्रांच, साइबर सेल और डिवीजनों के कर्मचारियों की विशेष टीमों का गठन किया गया था। विशेष ड्राइव की अवैध गतिविधियों के खिलाफ शुरू किए गए। यह पाया गया कि कई फर्जी आईडी का उपयोग कर टिकटों की गैरकानूनी तरीके से बुकिंग की गई थी, जिनमें कई अधिकृत एजेंट भी शामिल हैं, जो नकली आईडी का उपयोग करते हैं और विशेष सॉफ्टवेयर का भी उपयोग कर यात्रियों से अतिरिक्त पैसे वसूलते हैं।

जागरुक रहें यात्री
पश्चिम रेलवे ने उपभोक्ताओं से अनुरोध किया है कि वे केवल अधिकृत स्रोतों से ही अपनी यात्रा पर टिकट खरीदें। यात्रियों के साथ-साथ आमजन को भी समय-समय पर पीए सिस्टम की उद्घोषणाओं, स्टिकरों, पोस्टरों, ट्रेनों और रेल परिसरों में पैम्पलेट वितरण से पश्चिम रेलवे की ओर से दलालों के खिलाफ अलर्ट किया जाता है। पश्चिम रेलवे की ओर से जागरूकता अभियान भी चलाये जाते हैं।

141 मामलों में 154 को किया गिरफ्तार

वहीं अहमदाबाद रेल मंडल में मार्च से 15 अगस्त तक 141 मामले सामने आए हैं, जिसमें 155 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया। जो आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं उनके पास से 623 ई-टिकटें, 13 काउंटर टिकट जो लाइव टिकटें थी। वहीं 2004 ई- टिकटें और 4 काउंटर टिकटें उपयोग की गई थीं। वहीं आरोपियों से 38,98,438 रुपए के टिकट जब्त किए गए।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned