महाशिवरात्रि पर लगातार 42 घंटे तक खुला रहेगा सोमनाथ महादेव मंदिर

11 मार्च को सवेरे 4 से 12 की रात 10 बजे तक खुलेगा

ले सकेंगे देश के प्रथम ज्योतिर्लिंग के दर्शन, पूजा, अनुष्ठान का लाभ

By: Rajesh Bhatnagar

Published: 05 Mar 2021, 10:49 PM IST

प्रभास पाटण. देश के द्वादश में से प्रथम व विश्व प्रसिद्ध सोमनाथ महादेव मंदिर महाशिवरात्रि पर लगातार 42 घंटे तक खुला रहेगा। आगामी 11 मार्च को महाशिवरात्रि पर सवेरे 4 बजे मंदिर खुलेगा और अगली रात यानी 12 मार्च की रात 10 बजे तक खुला रहेगा।
गुजरात के गिर सोमनाथ जिले में प्रभास पाटण-सोमनाथ स्थित सोमनाथ महादेव मंदिर में परमात्मा शिव के महापर्व महाशिवरात्रि की तैयारियां सादगी और परंपरागत परंपराओं के साथ शिवमय वातावरण में की जा रही हैं।
महाशिवरात्रि पर आगामी 11 मार्च को सवेरे 4 से अगली रात 10 बजेे तक निरंतर 42 घंटे तक श्रद्धालु दर्शन, पूजा, अनुष्ठान का लाभ ले सकेंगे। सोमनाथ ट्रस्ट के ट्रस्टी सचिव प्रवीण के. लहेरी व महा प्रबंधक विजयसिंह चावड़ा महाशिवरात्रि के कार्यक्रमों को अंंतिम रूप देने में जुटे हैं।

कोरोनाकाल में विशेष सतर्कता के साथ जारी रहेगी पूजा की परंपरा

समग्र देश व राज्य में वैश्विक स्तर पर कोरोनाकाल जारी है, इसके इस कारण विशेष सतर्कता के साथ पूजा की परंपरा जारी रहेगी। महाशिवरात्रि के अवसर पर मंदिर के शिखर पर ध्वजारोहण, मंदिर में चार प्रहर पूजा, महामृत्युंजय जाप-अनुष्ठान, संध्या श्रृंगार, दीपमाला, रोशनी, दर्शन के लिए आने वाले भक्तों के लिए चार-पांच बार निशुल्क भोजन-प्रसादी-भंडारे के आयोजन, सागर दर्शन ऑडिटोरियम में शिवकथा के आयोजन होंगे।

आरती, महा आरती भी

महाशिवरात्रि पर मध्यरात्रि में 12.30 बजे महा आरती, रात्रि 3.30 बजे व सवेरे 5.30 बजे और महाशिवरात्रि के दिन सवेरे 7, दोपहर 12 व शाम 9 बजे आरती भी की जाएगी।

सरकार की गाइडलाइन के अनुरूप व्यवस्था

भोजन-भंडारे की व्यवस्था के तहत चौपाटी मैदान पर और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित करने वालों के लिए ऑडिटोरियम में सरकार की गाइडलाइन के अनुरूप व्यवस्था की जाएगी। महिला विकास संस्था की ओर से कला-कारीगरी की वस्तुओं की प्रदर्शनी-बिक्री आदि की व्यव्स्थाएं भी की जाएगी।

यात्रियों-दर्शनार्थियों का मान-सम्मान-श्रद्धा बनाए रखने की सुरक्षा व्यवस्था

प्रभास पाटण. सोमनाथ महादेव मंदिर में महाशिवरात्रि पर आयोजनों व कार्यक्रमों के लिए सुरक्षा व्यव्स्था को अंतिम रूप दिया जा चुका है। यात्रियों-दर्शनार्थियों का मान-सम्मान-श्रद्धा बनाए रखने की सुरक्षा व्यवस्था की की गई है। प्रवेश व निकास के अलग-अलग प्वाइंट होंगे। तीन स्तरीय जांच के लिए टीम 10 हैंड मेटल डिटेक्टर, 2 डोर फ्रेम मेटल डिटेक्टर से जांच के बाद दर्शनार्थियों को प्रवेश देगी। समग्र मंदिर परिसर में लगे सीसीटीवी कैमरों पर नियंत्रण कक्ष में लगी स्क्रीन से नजर रखी जाएगी। 6 घुडसवार पुलिस दल कर्मचारी मंदिर क्षेत्र में, 1 पीसीआर वाहन में पुलिसकर्मी गीता मंदिर से वीवीआईपी गेस्ट हाऊस तक दिन-रात गश्त लगाएंगे। 1 डॉग स्क्वॉड, 1 बम खोजी व निस्तारण दस्ता, त्वरित रेसपांस टीम भी तैनात रहेगी। जिला पुलिस अधीक्षक राहुल त्रिपाठी के मार्गदर्शन और सोमनाथ ट्रस्ट के ट्रस्टी सचिव प्रवीण के. लहेरी व महा प्रबंधक विजयसिंह चावड़ा के समन्वय के साथ यात्रियों की सुरक्षा व कानून-व्यवस्था बनाए रखने के प्रबंध किए गए हैं। एक उपाधीक्षक, एक उप निरीक्षक, 45 पुलिसकर्मी, 40 महिला व 50 पुरुषों सहित 90 ग्राम रक्षक दल के लोग, राज्य आरक्षी पुलिस बल की एक कंपनी के अलावा अतिरिक्त 3 निरीक्षक, 3 उप निरीक्षक, 10 महिला व 20 पुरुष कांस्टेबलों की मांग पर कार्रवाई गति पर है।
- एम.डी. उपाध्याय, उपाधीक्षक व सोमनाथ महादेव मंदिर की जेड प्लस सुरक्षा व्यव्स्था के प्रभारी

Rajesh Bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned